Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-333💐

कभी शाम को ही मेरे दिल का दीपक जलाना,
छा गया है अँधेरा,उसे अपने नजरों से हटाना,
सुर्मई है मेरे ज़िंदगी में आया उनका हर ख़्याल,
ये मेरे ख़्याल हैं तुम भी अपने जज़्बातों को बताना।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
60 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बिछड़ जाता है
बिछड़ जाता है
Dr fauzia Naseem shad
"सुस्त होती जिंदगी"
Dr Meenu Poonia
मउगी चला देले कुछउ उठा के
मउगी चला देले कुछउ उठा के
आकाश महेशपुरी
खुदा के वास्ते
खुदा के वास्ते
shabina. Naaz
रण
रण
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
संविधान की शपथ
संविधान की शपथ
मनोज कर्ण
वीणा का तार 'मध्यम मार्ग '
वीणा का तार 'मध्यम मार्ग '
Buddha Prakash
फिर जनता की आवाज बना
फिर जनता की आवाज बना
vishnushankartripathi7
गंगा का फ़ोन
गंगा का फ़ोन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हे परम पिता परमेश्वर,जग को बनाने वाले
हे परम पिता परमेश्वर,जग को बनाने वाले
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
घुटता है दम
घुटता है दम
Shekhar Chandra Mitra
■ पर्व का संदेश ..
■ पर्व का संदेश ..
*Author प्रणय प्रभात*
कहानी :#सम्मान
कहानी :#सम्मान
Usha Sharma
शिक्षा बिना जीवन है अधूरा
शिक्षा बिना जीवन है अधूरा
gurudeenverma198
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
Shashi kala vyas
एमर्जेंसी ड्यूटी
एमर्जेंसी ड्यूटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ఉగాది
ఉగాది
विजय कुमार 'विजय'
Pyari dosti
Pyari dosti
Samar babu
हिन्दी दोहा बिषय-
हिन्दी दोहा बिषय- "घुटन"
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*असुर या देवता है व्यक्ति, बतलाती सदा बोली (मुक्तक)*
*असुर या देवता है व्यक्ति, बतलाती सदा बोली (मुक्तक)*
Ravi Prakash
शेष
शेष
Dr.Priya Soni Khare
बंद लिफाफों में न करो कैद जिन्दगी को
बंद लिफाफों में न करो कैद जिन्दगी को
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हमें भी देख जिंदगी,पड़े हैं तेरी राहों में।
हमें भी देख जिंदगी,पड़े हैं तेरी राहों में।
Surinder blackpen
💐प्रेम कौतुक-338💐
💐प्रेम कौतुक-338💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जंगल की होली
जंगल की होली
Dr Archana Gupta
मुरशिद
मुरशिद
Satish Srijan
रिश्तों को नापेगा दुनिया का पैमाना
रिश्तों को नापेगा दुनिया का पैमाना
Anil chobisa
हम दो अंजाने
हम दो अंजाने
Kavita Chouhan
तुम यूं मिलो की फासला ना रहे दरमियां
तुम यूं मिलो की फासला ना रहे दरमियां
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
बरपा बारिश का कहर, फसल खड़ी तैयार।
बरपा बारिश का कहर, फसल खड़ी तैयार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...