Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-482💐

कभी मिले उन्हें इकट्ठा एतिबार देंगे,
उनसे अपने इश्क़ का भी इक़रार लेंगे,
पयाम भेजकर वो चाहते क्या हैं हमसे,
बात करेंगे नहीं हमसे,ख़लिश इंकार देंगे।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
60 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
'क्यों' (हिन्दी ग़ज़ल)
'क्यों' (हिन्दी ग़ज़ल)
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मैं भौंर की हूं लालिमा।
मैं भौंर की हूं लालिमा।
Surinder blackpen
"मैं मोहब्बत हूँ"
Dr. Kishan tandon kranti
हम कहां तुम से
हम कहां तुम से
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी, क्या है?
जिंदगी, क्या है?
bhandari lokesh
हिन्दी दोहे- इतिहास
हिन्दी दोहे- इतिहास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मेरी धड़कन मेरे गीत
मेरी धड़कन मेरे गीत
Prakash Chandra
प्यार नहीं दे पाऊँगा
प्यार नहीं दे पाऊँगा
Kaushal Kumar Pandey आस
🙅अमोघ-मंत्र🙅
🙅अमोघ-मंत्र🙅
*Author प्रणय प्रभात*
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
विमला महरिया मौज
अगर मेरी मोहब्बत का
अगर मेरी मोहब्बत का
श्याम सिंह बिष्ट
विरहन
विरहन
umesh mehra
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
Rajesh vyas
छोटी-छोटी बातों से, ऐ दिल परेशाँ न हुआ कर,
छोटी-छोटी बातों से, ऐ दिल परेशाँ न हुआ कर,
_सुलेखा.
फ़रियाद
फ़रियाद
VINOD KUMAR CHAUHAN
Gulab ke hasin khab bunne wali
Gulab ke hasin khab bunne wali
Sakshi Tripathi
है वही, बस गुमराह हो गया है…
है वही, बस गुमराह हो गया है…
Anand Kumar
दिखा तू अपना जलवा
दिखा तू अपना जलवा
gurudeenverma198
💐प्रेम कौतुक-515💐
💐प्रेम कौतुक-515💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Pyari dosti
Pyari dosti
Samar babu
2266.
2266.
Dr.Khedu Bharti
हमारा प्यारा गणतंत्र दिवस
हमारा प्यारा गणतंत्र दिवस
Ram Krishan Rastogi
*हे प्रभो सब हों सुखी, बीमारियों से दूर हों【मुक्तक】*
*हे प्रभो सब हों सुखी, बीमारियों से दूर हों【मुक्तक】*
Ravi Prakash
तुम्हारी निगाहें
तुम्हारी निगाहें
Er Sanjay Shrivastava
बड़ा मुश्किल है ये लम्हे,पल और दिन गुजारना
बड़ा मुश्किल है ये लम्हे,पल और दिन गुजारना
'अशांत' शेखर
महाभारत युद्ध
महाभारत युद्ध
Anil chobisa
शेष
शेष
Dr.Priya Soni Khare
जिंदगी में किसी से अपनी तुलना मत करो
जिंदगी में किसी से अपनी तुलना मत करो
Swati
जिन्दगी के हर सफे को ...
जिन्दगी के हर सफे को ...
Bodhisatva kastooriya
" यह जिंदगी क्या क्या कारनामे करवा रही है
कवि दीपक बवेजा
Loading...