#19 Trending Author
May 12, 2022 · 1 min read

कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम

कभी मिट्टी पर लिखा था
तेरा नाम अनजाने में
उससे बेहतर गजल
मैं आज तक नहीं कह पाया
– कृष्ण सिंह

1 Like · 22 Views
You may also like:
बेजुबां जीव
Jyoti Khari
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
सच्चा प्यार
Anamika Singh
तुम धूप छांव मेरे हिस्से की
Saraswati Bajpai
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
श्रमिक
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
* सत्य,"मीठा या कड़वा" *
मनोज कर्ण
ज़िंदगी।
Taj Mohammad
💐💐प्रेम की राह पर-13💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
प्रणाम : पल्लवी राय जी तथा सीन शीन आलम साहब
Ravi Prakash
ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।
Taj Mohammad
"साहित्यकार भी गुमनाम होता है"
Ajit Kumar "Karn"
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
विश्व पुस्तक दिवस (किताब)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कराहती धरती (पृथ्वी दिवस पर)
डॉ. शिव लहरी
ममता की फुलवारी माँ हमारी
Dr. Alpa H.
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
हे राम! तुम लौट आओ ना,,!
ओनिका सेतिया 'अनु '
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
【10】 ** खिलौने बच्चों का संसार **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
गधा
Buddha Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
बाबू जी
Anoop Sonsi
आप कौन है
Sandeep Albela
Loading...