Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कभी कम न हो…

चाहो तो ऐसे चाहो कि
चाहत कभी कम न हो
उड़ो तो ऐसे उड़ो कि
हिम्मत कभी कम न हो
हंसों तो ऐसे कि
मुस्कराहट कभी कम न हो
जख्म हो तो ऐसे कि
मरने से कम न हो
कोशिश करो ऐसे कि
हौसला कभी कम न हो
लेखन हो तो ऐसे कि
शब्द कभी कम न हो
मेहनत करो ऐसे कि
लक्ष्य कभी कम न हो
पाने की ललक ऐसे कि
जिज्ञाषा कभी कम न हो
कल्पना हो तो ऐसे कि
भाव कभी न कम हो
‘अंजुम’ दोस्ती हो तो ऐसे कि
साथ कभी न कम हो

नाम-मनमोहन लाल गुप्ता
मोबाइल-9927140483
‎Monday, ‎May ‎24, ‎2021

2 Likes · 440 Views
You may also like:
पिता, इन्टरनेट युग में
Shaily
★HAPPY FATHER'S DAY ★
KAMAL THAKUR
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ग्रह और शरीर
Vikas Sharma'Shivaaya'
दूर रहकर तुमसे जिंदगी सजा सी लगती है
Ram Krishan Rastogi
रजनी कजरारी
Dr Meenu Poonia
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
✍️✍️गुमराह✍️✍️
"अशांत" शेखर
सियासी क़ैदी
Shekhar Chandra Mitra
फूल कोई।
Taj Mohammad
*सावन की जय हो (गीत)*
Ravi Prakash
समय..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
मां क्यों निष्ठुर?
Saraswati Bajpai
✍️सूर्यज्वाळा✍️
"अशांत" शेखर
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
मेरा दिल हमेशा।
Taj Mohammad
शाम से ही तेरी याद सताने लगती है
Ram Krishan Rastogi
पुनर्पाठ : एक वर्षगाँठ
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
छोड़ दिए संस्कार पिता के, कुर्सी के पीछे दौड़ रहे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुख पर तेज़ आँखों में ज्वाला
Rekha Drolia
अँधेरा बन के बैठा है
आकाश महेशपुरी
सियासत की बातें
Dr. Sunita Singh
*उगता सूरज देखकर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
कभी जमीं कभी आसमां बन जाता है।
Taj Mohammad
" महिलाओं वाला सावन "
Dr Meenu Poonia
पानी कहे पुकार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
¡~¡ कोयल, बुलबुल और पपीहा ¡~¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कौन आएगा
Dhirendra Panchal
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
तोड़कर तुमने मेरा विश्वास
gurudeenverma198
Loading...