Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#25 Trending Author

कबीर: एक नाकाम पैगम्बर

हवाओं पर दर्ज करने
मोहब्बत का पैगाम
उतरा था वह जमीन पर
छोड़ कर आसमान।
(१)
हिंदी-उर्दू से उसका
कोई वास्ता न था
वह बोलता था दिल की
धड़कनों की जुबान।
(२)
फिरकापरस्तों से उसकी
निभती भी तो कैसे
उसके लिए जो हिंदू थे
वही थे मुसलमान।
(३)
उसकी बातों पर अगर
हमने किया होता गौर
तो बना होता एक
दूसरा ही हिंदुस्तान।
(४)
वह तो बीमार रूहों का
हो सकता था मसीहा
लेकिन बनकर रह गया
एक पैगम्बर नाकाम।

Kabeer: Ek Nakam Paigambar
By
Shekhar Chandra Mitra
Seorahi, Kushi Nagar,U.P

3 Comments · 134 Views
You may also like:
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
दिन बड़ा बनाने में
डी. के. निवातिया
वक़्त तबदीलियां भी
Dr fauzia Naseem shad
पत्ते
Saraswati Bajpai
एहसास पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
पारिवारिक बंधन
AMRESH KUMAR VERMA
रखना खयाल मेरे भाई हमेशा
gurudeenverma198
पैसा पैसा कैसा पैसा
विजय कुमार अग्रवाल
*कॉंवड़ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
देशभक्ति के पर्याय वीर सावरकर
Ravi Prakash
वर्तमान
Vikas Sharma'Shivaaya'
इश्क में बेचैनियाँ बेताबियाँ बहुत हैं।
Taj Mohammad
अग्निवीर
पाण्डेय चिदानन्द
अभिलाषा
Anamika Singh
✍️✍️माँ✍️✍️
'अशांत' शेखर
चुनिंदा अशआर
Dr fauzia Naseem shad
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
" हमरा सबकें ह्रदय सं जुड्बाक प्रयास हेबाक चाहि "
DrLakshman Jha Parimal
आशाओं की बस्ती
सूर्यकांत द्विवेदी
रे मेघा तुझको क्या गरज थी
kumar Deepak "Mani"
देख आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
*** घर के आंगन की फुलवारी ***
Swami Ganganiya
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
मैं तुम्हारे स्वरूप की बात करता हूँ
gurudeenverma198
चलो जिन्दगी को फिर से।
Taj Mohammad
मैं तुमको याद आऊंगा।
Taj Mohammad
चाहतें है राहतें है।
Taj Mohammad
कोई मरहम
Dr fauzia Naseem shad
चलो जिन्दगी को।
Taj Mohammad
बाल श्रम विरोधी
Utsav Kumar Aarya
Loading...