Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कण-कण तेरे रूप

झुरमुटों की
छाँव में,
सुन्दर सरोवर,
गांँव में,
हरियाली इसके
चहुंँओर,
पशु-पक्षी
करते किलोल,
फल-फूल से
लदे उपवन,
मधु-पराग को
फिरते भ्रमर,
मद-सुवास से
मादक पवन,
वश में नहीं
पागल ये मन,
मन में बसे प्रभु
राधा के संग,
रचने लगे वे
रास-रंग,
मैं भाव-विभोर
बेसुध फिरूंँ,
प्रभु संग रास
मैं भी करूंँ,
प्रभु दे वर, इसी
भ्रम में जिऊंँ,
कण-कण तेरे रूप
के दर्शन करूंँ।

मौलिक व स्वरचित
©® श्री रमण
बेगूसराय (बिहार)

6 Likes · 8 Comments · 142 Views
You may also like:
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
“IF WE WRITE, WRITE CORRECTLY “
DrLakshman Jha Parimal
धुँध
Rekha Drolia
✍️प्रेम खेळ नाही बाहुल्यांचा✍️
'अशांत' शेखर
'विजय दिवस'
Godambari Negi
वक्त।
Taj Mohammad
अश्रुपात्र ... A glass of tears भाग - 5
Dr. Meenakshi Sharma
मैं मेहनत हूँ
Anamika Singh
✍️कोई मसिहाँ चाहिए..✍️
'अशांत' शेखर
सावन मास निराला
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️मेहरबानी✍️
'अशांत' शेखर
✍️सुलूक✍️
'अशांत' शेखर
स्वर्गीय श्री पुष्पेंद्र वर्णवाल जी का एक पत्र : मधुर...
Ravi Prakash
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
मिलना , क्यों जरूरी है ?
Rakesh Bahanwal
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
*योग-ज्ञान भारत की पूॅंजी (गीत)*
Ravi Prakash
तुम्हारा खयाल आया है।
Taj Mohammad
" फेसबुक वायरस "
DrLakshman Jha Parimal
नदी का किनारा
Ashwani Kumar Jaiswal
*योग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ख़ूब समझते हैं ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
प्रकृति कविता
Harshvardhan "आवारा"
💐💐मृत्यु: प्रतिक्षणं समया आगच्छति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️कालचक्र✍️
'अशांत' शेखर
घर की इज्ज़त।
Taj Mohammad
मय है मीना है साकी नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
अब कोई कुरबत नहीं
Dr. Sunita Singh
" भेड़ चाल कहूं या विडंबना "
Dr Meenu Poonia
Loading...