Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#2 Trending Author

और जीना चाहता हूं मैं

जब मर जाता है कोई
तारीफ तभी होती है
उस आदमी की अच्छाई
सबको तभी दिखती है

हैरान हूं इस दस्तूर से
ऐसा क्यों होता है
जो जानता भी नहीं
वो भी आंसू बहाता है

काश ऐसा प्यार हम
जीवित लोगों पर दिखाएं
उनकी खूबियां खुद
हम उनको ही बताएं

महसूस करे जो अकेला
उसको थोड़ा वक्त दे पाएं
किसी के बारे में बिना जाने
हम अफवाहें न फैलाएं

है वो भी बहन बेटी या
बाप भाई किसी का
बिना बात हम तिरस्कार
न करें कभी किसी का

मरकर महान नहीं
बनना चाहता हूं मैं
अभी और ये ज़िंदगी
जीना चाहता हूं मैं।

14 Likes · 8 Comments · 256 Views
You may also like:
पिता
Anis Shah
वर्तमान परिवेश और बच्चों का भविष्य
Mahender Singh Hans
तोड़ डालो ये परम्परा
VINOD KUMAR CHAUHAN
हमारे पास करने को दो ही काम है।
Taj Mohammad
बुजुर्गो की बात
AMRESH KUMAR VERMA
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
दो पल मोहब्बत
श्री रमण 'श्रीपद्'
विश्वेश्वर महादेव
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हे ! धरती गगन केऽ स्वामी...
मनोज कर्ण
ये लखनऊ है मेरी जान।
Taj Mohammad
💐परमात्मा एव संसार-रूपेण प्रकट: भवति💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कर्ण और दुर्योधन की पहली मुलाकात
AJAY AMITABH SUMAN
खंडहर हुई यादें
VINOD KUMAR CHAUHAN
आजादी का दौर
Seema 'Tu haina'
भाइयों के बीच प्रेम, प्रतिस्पर्धा और औपचारिकताऐं
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
तीर ए नज़र से।
Taj Mohammad
*** घर के आंगन की फुलवारी ***
Swami Ganganiya
'हकीकत'
Godambari Negi
✍️सिर्फ दो पल...दो बातें✍️
'अशांत' शेखर
दिल तुम्हें
Dr fauzia Naseem shad
सच होता है कड़वा
gurudeenverma198
मुस्कुराएं सदा
Saraswati Bajpai
*रामपुर के गुमनाम क्रांतिकारी*
Ravi Prakash
✍️अपना ही सवाल✍️
'अशांत' शेखर
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
संघर्ष
Anamika Singh
तेरी एक तिरछी नज़र
DESH RAJ
उपज खोती खेती
विनोद सिल्ला
भारतीय लोकतंत्र की मुर्मू, एक जीवंत कहानी हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...