Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Apr 2022 · 1 min read

ओ मेरे !….

ओ मेरे ! अवकाशवादी मन,
ओ मेरे ! अवसादवादी मन ,
घुट-घुट कौन जिए ?

आँसू रोक लिए हैं तूने,
मुस्कानें कैसे आएँगीं ?
दुविधा थाम रखी है तूने,
सुविधाएँ कैसे आएँगीं ?

ओ मेरे ! आकाशवादी मन,
ओ मेरे ! परिवादवादी मन,
झगड़े मोल लिए ।

नफ़रत रोक रहा है पगले,
प्यार कहाँ से तू पाएगा ?
कलियाँ कुतर रहा सैलानी,
फूल कहाँ से ले आएगा ?

ओ मेरे ! आभाषवादी मन,
ओ मेरे ! अपवादवादी मन,
उल्टे दाँव दिए ।

गज से उतर गधे पर बैठा,
स्वाभिमान कैसे लाएगा ?
लौट के बुद्धू यदि घर आया,
तो कुछ ज़िन्दा रह पाएगा ?

ओ मेरे ! परिभाषवादी मन,
ओ मेरे ! अनुवादवादी मन,
बासे ज़हर पिए ?

— ईश्वर दयाल गोस्वामी
छिरारी (रहली),सागर
मध्यप्रदेश ।

Language: Hindi
Tag: गीत
7 Likes · 6 Comments · 151 Views
You may also like:
आंखों की लाली
शिव प्रताप लोधी
बिहार में खेला हो गया
Ram Krishan Rastogi
# पैगाम - ए - दिवाली .....
Chinta netam " मन "
Rainbow (indradhanush)
Nupur Pathak
आतिशबाजी बुरी (बाल कविता)
Ravi Prakash
मैंने भी
Dr fauzia Naseem shad
246. "हमराही मेरे"
MSW Sunil SainiCENA
चांद
Annu Gurjar
रिश्तों की कसौटी
VINOD KUMAR CHAUHAN
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
भूख
Varun Singh Gautam
तेरा मेरा नाता
Alok Saxena
अम्मा/मम्मा
Manu Vashistha
ईमानदारी
AMRESH KUMAR VERMA
मां शारदे
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
🌺🍀सुखं इच्छाकर्तारं कदापि शान्ति: न मिलति🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हादसा
श्याम सिंह बिष्ट
बाल मन
लक्ष्मी सिंह
छत्रपति शिवाजी महाराज V/s संसार में तथाकथित महान समझे जाने...
Pravesh Shinde
“ हमर महिसक जन्म दिन पर आशीर्वाद दियोनि ”
DrLakshman Jha Parimal
तेरा आईना हो जाऊं
कवि दीपक बवेजा
नेता और मुहावरा
सूर्यकांत द्विवेदी
दो शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
पहली मुहब्बत थी वो
अभिनव अदम्य
हिंदी दिवस
Aditya Prakash
विश्वास
Harshvardhan "आवारा"
हिजाब विरोधी आंदोलन
Shekhar Chandra Mitra
तुमसे इश्क कर रहे हैं।
Taj Mohammad
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
जख्म
Anamika Singh
Loading...