Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 17, 2022 · 1 min read

ऐ दिल सब्र कर।

कोई तो हमारी भी,
दुआ मांगता होगा…!!
किसी के हिस्से में हम भी,
फरियाद बनकर जायेगें…!!
ऐ दिल सब्र कर,
थोडा सा तू अभी…
किसी की जिंदगी में,
हम भी बनकर प्यार…
एक दिन संवर जायेगें…!!

✍️✍️ ताज मोहम्मद ✍️

100 Views
You may also like:
इश्क कोई बुरी बात नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हमसे न अब करो
Dr fauzia Naseem shad
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
अरदास
Buddha Prakash
#15_जून
Ravi Prakash
ऊपज
Mahender Singh Hans
आस्तीन के साँप
Dr Archana Gupta
मै तैयार हूँ
Anamika Singh
प्रदीप छंद और विधाएं
Subhash Singhai
तिरंगा
Dr Archana Gupta
सारे द्वार खुले हैं हमारे कोई झाँके तो सही
Vivek Pandey
चले आओ तुम्हारी ही कमी है।
सत्य कुमार प्रेमी
अल्फाजों के घाव।
Taj Mohammad
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
राखी-बंँधवाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
*माहेश्वर तिवारी जी से संपर्क*
Ravi Prakash
सफल होना चाहते हो
Krishan Singh
" बिल्ली "
Dr Meenu Poonia
तरुण वह जो भाल पर लिख दे विजय।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
'कई बार प्रेम क्यों ?'
Godambari Negi
शायरी
Dr.Alpa Amin
करुणा के बादल...
डॉ.सीमा अग्रवाल
✍️झूठ और सच✍️
'अशांत' शेखर
✍️निशान✍️
'अशांत' शेखर
=*बुराई का अन्त*=
Prabhudayal Raniwal
R
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
वेदना के अमर कवि श्री बहोरन सिंह वर्मा प्रवासी*
Ravi Prakash
प्रेम रस रिमझिम बरस
श्री रमण 'श्रीपद्'
खस्सीक दाम दस लाख
Ranjit Jha
Loading...