Sep 18, 2016 · 1 min read

ऐसी मुरली बजाए मेरा श्याम/मंदीप

ऐसी मुरली बजाए मेरा श्याम,
सब के दिलो को मिले आराम।

कोई बोले कन्हा कोई बोले गोबिन्द,
मेरे श्याम के है अनेको नाम।

रखना दिल में श्याम को दिल में,
तभी बनेगे तेरे बिगड़े हर एक काम।

रहे सब प्यार से मिल जुल कर,
पिला दो सब को प्यार का जाम।

रहे मंदीप हमेसा श्याम के चरणों में,
लेता रहे नाम तुम्हारा रात दिन, सुबह और शाम।

#मंदीपसाई

113 Views
You may also like:
मां
हरीश सुवासिया
वो दिन भी बहुत खूबसूरत थे
Krishan Singh
🍀🌺प्रेम की राह पर-44🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Angad tiwari
Angad Tiwari
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कैसे समझाऊँ तुझे...
Sapna K S
अशोक विश्नोई एक विलक्षण साधक (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
कोई तो दिन होगा।
Taj Mohammad
बुंदेली दोहा- गुदना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"सूखा गुलाब का फूल"
Ajit Kumar "Karn"
अफसोस-कर्मण्य
Shyam Pandey
प्रेमिका.. मेरी प्रेयसी....
Sapna K S
"क़तरा"
Ajit Kumar "Karn"
🙏महागौरी🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
शहीद का पैगाम!
Anamika Singh
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
स्थापना के 42 वर्ष
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
【11】 *!* टिक टिक टिक चले घड़ी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
लाल टोपी
मनोज कर्ण
अखबार ए खास
AJAY AMITABH SUMAN
पिता की नियति
Prabhudayal Raniwal
खेत
Buddha Prakash
बेवफाओं के शहर में कुछ वफ़ा कर जाऊं
Ram Krishan Rastogi
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मैं पिता हूँ
सूर्यकांत द्विवेदी
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H.
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण
वो बरगद का पेड़
Shiwanshu Upadhyay
Loading...