Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 16, 2022 · 1 min read

ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा…!!

कभी दोस्त जैसे बनकर गले लगाता,,,
तो कभी जिंदगी से गमों को भगाता,,,
नहीं है कोई दूसरा यहां उन के जैसा,,,
कड़ी धुप में हरदम छाया बन जाता,,,
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा…!!

जिंदगी में हर पल को हमें सिखाता,,,
हर घाव में मरहम बनके लग जाता,,,
हर मुश्किल मेंभी वो साथ निभाता,,,
कभी-कभी तो मां जैसा बन जाता,,,
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा…!!

ना जाने कैसे वो मुझ को पढ़ लेता,,,
हमारे साथ वो हम जैसा बन जाता,,,
सिर पर आशाओं का बोझ उठाता,,,
हर विपत्ति से वो डटकर लड़ जाता,,,
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा…!!

मेरे हर पग पर अपना हाथ बढ़ाता,,,
मैं गिर ना जाऊं कहीं वो संभालता,,,
हम सबसे ही वो अपने गम छुपाता,,,
हमेशा ही वो बस मंद मंद मुस्काता,,,
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा…!!

ताज मोहम्मद
लखनऊ

2 Likes · 7 Comments · 99 Views
You may also like:
हम गीत ख़ुशी के गाएंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कहानियां
Alok Saxena
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
ईद में खिलखिलाहट
Dr. Kishan Karigar
कुछ ना रहा
Nitu Sah
“पिया” तुम बिन
DESH RAJ
आज का विकास या भविष्य की चिंता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
" मायूस हुआ गुदड़ "
Dr Meenu Poonia
श्राप महामानव दिए
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
क्यों भिगोते हो रुखसार को।
Taj Mohammad
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
तुम भी न पा सके
Dr fauzia Naseem shad
आइसक्रीम लुभाए
Buddha Prakash
आंख ऊपर न उठी...
Shivkumar Bilagrami
मील का पत्थर
Anamika Singh
गरीबी तमाशा बना
Dr fauzia Naseem shad
चराग
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
GOD YOU are merciful.
Taj Mohammad
$दोहे- हरियाली पर
आर.एस. 'प्रीतम'
कैलाश मानसरोवर यात्रा (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
गुरु चरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बस चार कंधे
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
"राधे राधे"
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
नई सुबह रोज
Prabhudayal Raniwal
मेरी रातों की नींद क्यों चुराते हो
Ram Krishan Rastogi
इनक मोतियो का
shabina. Naaz
पत्थर दिल है।
Taj Mohammad
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
Loading...