Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ए मालिक किनारा लगा देना

ए मालिक किनारा लगा देना
जिंदगी को बिना जाने
चलते चले गए
जब होश आया तो बहुत
आगे निकल चुके थे
मुरकर पीछे जाना मुमकिन
नहीं
पर राह आगे की तो
दिखाते चला चल
ए मालिक किनारा लगा देना ।

दीन वो हो नहीं सकता
जिसके कदम में तुम्हारा
बल समाहित हो
एक दिव्य दृष्टि की
दान कर
जो तुम्हारे साथ होने
का एहसास कराते
चला चले
ए मालिक किनारा लगा देना ।

इतना तो रहम कर कि
सुबह आत्मविश्वास की किरण
लहराये
दिन अपने प्रण को साकार
होते हुए दिखाए
रात चैन की नींद
सुलाए बस……..
ए मालिक किनारा लगा देना ।

कर जोड़ विनती तुमसे करूँ
मान इतनी तू मेरा
रख लेना
मेरे अरमानों के
पुष्पों को पुष्पित
करते चला चल
ए मालिक किनारा लगा देना ।

दे आशीष इन सांसो को
पंछी बनकर जब उड़ने
को हो बेताब
उनके स्पर्श से ओत –
प्रोत करा देना
उनके फूलों
की खुशबू को इस
जग में
फैलाते चला चल
ए मालिक किनारा लगा देना ।
ए मालिक किनारा …………..

” एक अरजी “………
@पूनम झा | कोटा ,राजस्थान

112 Views
You may also like:
✍️एक ख़ता✍️
"अशांत" शेखर
गांव शहर और हम ( कर्मण्य)
Shyam Pandey
परछाई से वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
अच्छा किया तुमने।
Taj Mohammad
💐 निगोड़ी बिजली 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
भगवान श्री परशुराम जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
सावन
Arjun Chauhan
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
【9】 *!* सुबह हुई अब बिस्तर छोडो *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पुस्तैनी जमीन
आकाश महेशपुरी
बारिश की बौछार
Shriyansh Gupta
भोर
पंकज कुमार "कर्ण"
ऐसे थे पापा मेरे !
Kuldeep mishra (KD)
आज बहुत दिनों बाद
Krishan Singh
एहसासों का समन्दर लिए बैठा हूं।
Taj Mohammad
देवदूत डॉक्टर
Buddha Prakash
जीवनदाता वृक्ष
AMRESH KUMAR VERMA
सैनिक
AMRESH KUMAR VERMA
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
1971 में आरंभ हुई थी अनूठी त्रैमासिक पत्रिका "शिक्षा और...
Ravi Prakash
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
शहीद भारत यदुवंशी को मेरा नमन
Surabhi bharati
जगत के स्वामी
AMRESH KUMAR VERMA
मेरे खुदा की खुदाई।
Taj Mohammad
जिन्दगी से क्या मिला
Anamika Singh
पानी के लिए लड़ेगी दुनिया, नहीं मिलेगा चुल्लू भर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धरती माँ का करो सदा जतन......
Dr. Alpa H. Amin
पिता का महत्व
ओनिका सेतिया 'अनु '
Loading...