Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 16, 2022 · 1 min read

बेटी की मायका यात्रा

घड़ियां खत्म हो गई इंतजार की
खुशी के पल ठहरेंगे ये एहसास
देखते ही आई रौनक चेहरे पर
मन खुशी से झूमता ये एहसास

हंसते मुस्कुराते बातें करते
अपनी कहने सुनने का एहसास
गम न गम का निशान बाकी
हर पल जिंदगी जीने का एहसास

पापा भैय्या का प्यार भरा सानिध्य
भाभी मनभावन दुलार का एहसास
मां होती तो,कहने का मौका न मिला
ममत्व सागर मे डूबने का एहसास

बच्चों की खिलखिलाहट हंसी हंगामा
बेफिक्र जिंदगी जीने का एहसास
घूमने के लिए जाना और आना
सुहाना सफर जिंदगी ऐसा एहसास

न भूलूंगी घर आंगन चौबारे को
दिल मे रहेगा संस्कारों का एहसास
खेत उपजाऊ पानी मीठा मिला
बो चुकी प्रेम बीज होगा एहसास

वक्त बिदाई का हो गई आंखे नम
मिल के बिछड़ने का एहसास
फिर मिलने के लिए बिछड़ रहे
आस पर विश्वास का एहसास

आए थे यहां रुके,चले भी गये
दुख सुख के संगम का एहसास
यथार्थ व्यथा का लेखा जोखा
कलम से कागज पे उतरा एहसास

स्वरचित
मौलिक
सर्वाधिकार सुरक्षित
अश्वनी कुमार जायसवाल कानपुर

3 Likes · 8 Comments · 92 Views
You may also like:
सब खड़े सुब्ह ओ शाम हम तो नहीं
Anis Shah
सोंच समझ....
Dr. Alpa H. Amin
✍️घर में सोने को जगह नहीं है..?✍️
"अशांत" शेखर
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
मैं अश्क हूं।
Taj Mohammad
प्रोफेसर ईश्वर शरण सिंहल का साहित्यिक योगदान (लेख)
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-11💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Little sister
Buddha Prakash
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मौसम यह मोहब्बत का बड़ा खुशगवार है
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
धारण कर सत् कोयल के गुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ऐ वतन!
Anamika Singh
✍️मैं जब पी लेता हूँ✍️
"अशांत" शेखर
"Happy National Brother's Day"
Lohit Tamta
बुलन्द अशआर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" हसीन जुल्फें "
DESH RAJ
नदी सदृश जीवन
Manisha Manjari
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
“ हमर महिसक जन्म दिन पर आशीर्वाद दियोनि ”
DrLakshman Jha Parimal
नवाब तो छा गया ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
करते है धन्यवाद.....दिलसे
Dr. Alpa H. Amin
सदगुण ईश्वरीय श्रंगार हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️✍️हमदर्द✍️✍️
"अशांत" शेखर
तेरी नजरों में।
Taj Mohammad
गाँव री सौरभ
हरीश सुवासिया
मेरी बेटी
Anamika Singh
देवता सो गये : देवता जाग गये!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
मन को मत हारने दो
जगदीश लववंशी
Loading...