Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 17, 2016 · 1 min read

एक लम्हें में जिंदगी समेट लिया,,,

एक लम्हें में जिंदगी समेट लिया है
भर के बाहों में तुम्हें
एक अधूरा ख़्वाब सच कर लिया है
पाकर जिंदगी में तुम्हे

मेरा हर रास्ता गुजरने लगा है
जिंदगी से तेरे
मेरा हर ख्याब संवरने लगा है
मिलने से तेरे
हसरतों की फसल उगा लिया है
पाकर जिंदगी में तुम्हें
एक लम्हे में जिंदगी समेट लिया है
भर के बाँहों में तुम्हे,,,,

कुछ सोये अरमान मचलने लगे हैं
कुछ रोते लम्हे मुस्कराने लगे हैं
अंधेरी रात को भुला दिया है
पाकर जिंदगी में तुम्हें
एक लम्हे में जिंदगी समेट लिया है
भर के बाँहों में तुम्हें,,,
लक्ष्य@myprerna

110 Views
You may also like:
💐साधकस्य निष्ठा एव कल्याणकर्त्री💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
Ram Krishan Rastogi
वक्त ए नमाज़ है।
Taj Mohammad
बाबू जी
Anoop Sonsi
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
बदला
शिव प्रताप लोधी
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
अभी तुम करलो मनमानियां।
Taj Mohammad
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
राम ! तुम घट-घट वासी
Saraswati Bajpai
सागर
Vikas Sharma'Shivaaya'
Love Heart
Buddha Prakash
शहीद की बहन और राखी
DESH RAJ
✍️✍️नींद✍️✍️
"अशांत" शेखर
पत्र का पत्रनामा
Manu Vashistha
मौसम बदल रहा है
Anamika Singh
💐प्रेम की राह पर-26💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मजदूरों की दुर्दशा
Anamika Singh
नवाब तो छा गया ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
फेहरिस्त।
Taj Mohammad
अहसास
Vikas Sharma'Shivaaya'
हर ख़्वाब झूठा है।
Taj Mohammad
सरसी छंद और विधाएं
Subhash Singhai
* राहत *
Dr. Alpa H. Amin
तुम ही ये बताओ
Mahendra Rai
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
जल जीवन - जल प्रलय
Rj Anand Prajapati
🌷"फूलों की तरह जीना है"🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
आध्यात्मिक गंगा स्नान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...