Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jul 2016 · 1 min read

एक बाप की औलाद

सूखा पीपल

हवा का झोका आया
और
खर खर खर
कु आवाज से
पीपल के पत्ते जमीं पर
बिखर गए
अब न मालूम पड़ रहा था
कौन किस फ्लोर का
निवाशी है
किस महंत के सिस्य है
सब एक झुण्ड में तो थे लेकिन
पहचान बस इतनी थी
ये पीपल के पत्ते हैं
आज सब का अहंकार और भ्रम
टूट चूका था
सब जान गए थे
हम इस मुल्क उस मुल्क के नहीं
अपितु
एक बाप की औलाद हैं….

आमोद बिन्दौरी ©®

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Comment · 368 Views
You may also like:
सावन
Mansi Tripathi
काली सी बदरिया छाई रे
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
1 jan 2023
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
*क्यों पहाड़ पर जाते {बाल कविता}*
Ravi Prakash
🍀🐦तुम्हारा हर हर्फ़ मलंग सा🐦🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बोझ
सोनम राय
सपनों में खोए अपने
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जहाँ न पहुँचे रवि
विनोद सिल्ला
Bhuneshwar Sinha Congress leader Chhattisgarh. bhuneshwar sinha politician chattisgarh
Bramhastra sahityapedia
■ एक गुज़ारिश
*Author प्रणय प्रभात*
नियति
Vikas Sharma'Shivaaya'
नववर्ष
Vandana Namdev
जिंदगी की तरह
shabina. Naaz
दुर्गा पूजा विषर्जन
Rupesh Thakur
आओ और सराहा जाये
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
तेरे ख़त
Kaur Surinder
हिटलर की वापसी
Shekhar Chandra Mitra
🙋बाबुल के आंगन की चिड़िया🙋
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तीरगी से निबाह करते रहे
Anis Shah
बाबा फ़क़ीर
Buddha Prakash
ज़िन्दगी
Rj Anand Prajapati
“ स्वप्न मे भेंट भेलीह “ मिथिला माय “
DrLakshman Jha Parimal
बटेसर
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
अमृता प्रीतम
Dr fauzia Naseem shad
सन २०२३ की मंगल कामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हमारा हरियाणा प्रदेश
Ram Krishan Rastogi
बंधन दो इनकार नहीं है
Dr. Girish Chandra Agarwal
हमने की वफा।
Taj Mohammad
करनी होगी जंग ( गीत)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...