Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Sep 12, 2020 · 2 min read

एक दुखियारी माँ

रात के अँधेरे में राह से गुजरते हुए एक माँ को देखा,
दुखियारी माँ की आँखों में आँसुओं को बहते हुए देखा I

एक करुण पुकार :

मेरे आँचल का सौदा करके बहुत मुस्कराते हो,
मेरे आँगन को नीलाम करके खुशियाँ मनाते हो,
मेरे घर आँगन का अपने आपको माली बताते हो,
मेरे तरक्की के सपनों को तार-तार किये जाते हो I

रात के ” अँधेरे में राह ” से गुजरते हुए एक माँ को देखा,
दुखियारी माँ की आँखों में आँसुओं को बहते हुए देखा I

दर्द मुझे इतना न दो कि नीला आसमान रोने लगे,
फरेब न करो इतना कि “ मालिक” सब्र खोने लगे,
झूठ का महल इतना न बड़ा बनाओ कि गिरने लगे,
पंख को इतना न फैलाओ कि हवाएं भी सोचने लगे I

रात के अँधेरे में राह से गुजरते हुए एक माँ को देखा,
दुखियारी माँ की आँखों में आँसुओं को बहते हुए देखा I

मेरी “ मिट्टी ” में पलकर मेरी मिट्टी से सौदा किया,
आख़िर में काम आई मिट्टी और मिट्टी में मिल गया,
राजा,बादशाहों के महल सब यहीं पर धरा रह गया,
लगाई आग अपनों ने पर मेरा आँचल बचा रह गया I

रात के अँधेरे में राह से गुजरते हुए एक माँ को देखा,
दुखियारी माँ की आँखों में आँसुओं को बहते हुए देखा I

“राज” से अब रहा न गया,वो माँ से बस करता सवाल ,
तुम आँखों में गंगाजल लिए बताओ अज्ञानी को नाम ,
एक मृदुभाषी दुखियारी माँ को मेरा कोटि-२ प्रणाम ,
मेरे कानों के पास बोली वो “माँ भारती” है मेरा नाम I

रात के अँधेरे में राह से गुजरते हुए एक माँ को देखा,
दुखियारी माँ की आँखों में आँसुओं को बहते हुए देखा I

देशराज “राज”
कानपुर I

2 Likes · 4 Comments · 416 Views
You may also like:
Forest Queen 'The Waterfall'
Buddha Prakash
#udhas#alone#aloneboy#brokenheart
Dalveer Singh
हम उन्हें कितना भी मनाले
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
बहुत हुशियार हो गए है लोग
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
" समुद्री बादल "
Dr Meenu Poonia
उड़ जाएगा एक दिन पंछी, धुआं धुआं हो जाएगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अपनापन
विजय कुमार अग्रवाल
सम्भल कर चलना ऐ जिन्दगी
Anamika Singh
शोर मचाने वाले गिरोह
Anamika Singh
जुबां।
Taj Mohammad
पिता की व्यथा
मनोज कर्ण
सरल हो बैठे
AADYA PRODUCTION
आब अमेरिकामे पढ़ता दिहाड़ी मजदूरक दुलरा, 2.5 करोड़ के भेटल...
श्रीहर्ष आचार्य
सजल : तिरंगा भारत का
Sushila Joshi
ये निम खामोशी तुम्हारी ( पूर्व प्रधान मंत्री श्री अटल...
ओनिका सेतिया 'अनु '
Only Love Remains
Manisha Manjari
जिंदा है।
Taj Mohammad
मुजीब: नायक और खलनायक ?
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सुख की कामना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"हर घर तिरंगा"देश भक्ती गीत
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
बेड़ियाँ
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
✍️क्या यही है अमृतकाल...✍️
'अशांत' शेखर
साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सीधे सीधे कहते हैं।
Taj Mohammad
रात तन्हा सी
Dr fauzia Naseem shad
✍️....और क्या क्या देखना बाकी है।✍️
'अशांत' शेखर
बता कर ना जाना।
Taj Mohammad
कितनी इस दर्द ने
Dr fauzia Naseem shad
मुकरिया__ चाय आसाम वाली
Manu Vashistha
Loading...