Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

एक आदर्श परिवार की संकल्पना

परिवार छोटा हो या बड़ा हो ,
हो उसमें अत्यधिक प्यार ।

हर सदस्य एक दूजे से हो जुड़ा,
हों जैसे वो एक ही दिल के तार ।

हों चाहे जैसे भी हालात जीवन में,
कंधे से कंधा मिलाए खड़े हो हर बार ।

दुख हो तो एक दूजे के आंसू पोंछे,
सुख और आनंद में हो जाएं एकसार ।

आशा और विश्वास से जुड़ा हो रिश्ता ,
करे मानवीय दुर्गुणों को अस्वीकार ।

सद्गुणों को उबारे ,कमियों को छुपाए,
एक दूजे का उत्साह बढ़ाने को रहे तैयार ।

तेरे मेरे की भावना का ना हो समावेश ,
है “हम” की भावना से भरा सुन्दर व्यवहार ।

बड़ों बुजुर्गों का हो आदर सम्मान और सेवा,
और छोटो से हो अत्यधिक प्यार व् दुलार ।

अनुशासन भी मगर प्यार के साथ जरूरी है,
जिससे संतान सीखे सभ्यता और संस्कार ।

हंसी खुशी से रहे एक दूजे का दिल बहलाए ,
हर पल को आनंद से जीतते हुए जीते वो संसार ।

यह संकल्पना कल्पना है या हकीकत जो भी है ,
गर मिल जाए ऐसा परिवार तो हो जायूं मैं बलिहार ।

मगर आदर्श परिवार बनाना कोई मुश्किल नहीं,
बस हर सदस्य को त्यागना होगा अपना अहंकार ।

2 Likes · 4 Comments · 352 Views
You may also like:
जितना सताना हो,सता लो हमे तुम
Ram Krishan Rastogi
मंजिले जुस्तजू
Vikas Sharma'Shivaaya'
हमारी जां।
Taj Mohammad
कर्मगति
Shyam Sundar Subramanian
एक मुठी सरसो पीट पीट बरसो
आकाश महेशपुरी
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
नारियां
AMRESH KUMAR VERMA
बाल श्रम विरोधी
Utsav Kumar Aarya
बन कर शबनम।
Taj Mohammad
"बदलाव की बयार"
Ajit Kumar "Karn"
सर रख कर रोए।
Taj Mohammad
अब हमें तुम्हारी जरूरत नही
Anamika Singh
एहसासों से हो जिंदा
Buddha Prakash
एक जंग, गम के संग....
Aditya Prakash
जीवन में
Dr fauzia Naseem shad
मुकरिया__ चाय आसाम वाली
Manu Vashistha
✍️राहे हमसफ़र✍️
'अशांत' शेखर
गीत - मैं अकेला दीप हूं
Shivkumar Bilagrami
वो खुश हैं अपने हाल में...!!
Ravi Malviya
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
शामिल इबादतो में
Dr fauzia Naseem shad
जब उमीदों की स्याही कलम के साथ चलती है।
Manisha Manjari
उसकी सांसों में जान
Dr fauzia Naseem shad
मुझे तुम्हारी जरूरत नही...
Sapna K S
बेजुबां जीव
Jyoti Khari
गजल सी रचना
Kanchan Khanna
चिड़िया और जाल
DESH RAJ
मायके की धूप रे
Rashmi Sanjay
✍️Happy Friendship Day✍️
'अशांत' शेखर
राहों के कांटे हटाते ही रहें।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...