#2 Trending Author

पास जो पैसे नहीं तो, कौन किसका यार

एक अपदान्त गीतिका
……………………………
जब यहाँ पे झूठ का ही, है महज बाजार,
कर नहीं देते मेरा तुम, क्यों नहीं संहार।

धन अगर जो पास है फिर, झूठ भी है सत्य,
पास जो पैसे नहीं तो, कौन किसका यार।

नारियों को देवियाँ ही, कह रहे कुछ देव,
किन्तु करते जा रहे हैं, रोज अत्याचार।

हक हमारा मारकर वे, कर रहे हैं राज,
राज के मद में दिखे कब, आंसुओं की धार।

धर्म के भी नाम पर तो, हो रहे हैं कत्ल,
कौन कहता है दया ही, है धरम का सार।

आजकल तो है खुदा भी, मौन क्यों ‘आकाश’,
सत्य का भी साथ देकर, हो रही है हार।

– आकाश महेशपुरी

316 Views
You may also like:
बुरा तो ना मानोगी।
Taj Mohammad
इश्क ए दास्तां को।
Taj Mohammad
कृतिकार पं बृजेश कुमार नायक की कृति /खंड काव्य/शोधपरक ग्रंथ...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐प्रेम की राह पर-30💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
Dr. Kishan Karigar
$गीत
आर.एस. 'प्रीतम'
*स्वर्गीय श्री जय किशन चौरसिया : न थके न हारे*
Ravi Prakash
🙏विजयादशमी🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
विभाजन की व्यथा
Anamika Singh
होते हैं कई ऐसे प्रसंग
Dr. Alpa H.
मुक्तक ( इंतिजार )
N.ksahu0007@writer
दिल मे कौन रहता है..?
N.ksahu0007@writer
* राहत *
Dr. Alpa H.
क्यों सत अंतस दृश्य नहीं?
AJAY AMITABH SUMAN
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
!! ये पत्थर नहीं दिल है मेरा !!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
**नसीब**
Dr. Alpa H.
पर्यावरण और मानव
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
जिंदगी जब भी भ्रम का जाल बिछाती है।
Manisha Manjari
संकरण हो गया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
नई लीक....
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
" ओ मेरी प्यारी माँ "
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
पिता का कंधा याद आता है।
Taj Mohammad
जब वो कृष्णा मेरे मन की आवाज़ बन जाता है।
Manisha Manjari
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...