Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author
Nov 20, 2016 · 1 min read

उस रात

उस रात

तुमने लिखा था
उस रात
खींचकर मेरा हाथ
बना उंगली कलम से
प्यार नाम तुमने
फ़ासला था हममें
उस रात
चारों ओर नीरवता
बेसुधर सो रही थी।
तारिकाऐं ही जानती
दशा मेरी दिल की
उस रात
मैं तुम्हारे पास होकर
दूर तुमसे जा रही थी
अधजगा सा अलसाया
अधसोया हुआ सा मान
उस रात
रात तुमने खींच कर
मुझे अपनी ओर फिर
से प्रस्ताव लिखा था
साथ निभाने का जीवन
उस रात

बिजली छूई तनमन को
सहसा जग कर देखा मैं
इस करवट पड़ी थी तुम
कि आँसू चुप बह रहे थे
उस रात
जला दूँ उस संसार को
प्यार जो कायरता दिखाता
पता उस समय क्या कर
और ना कर गुजरती मैं
उस रात
प्रात ही की ओर को
हमेशा है रात चलती
उजाले में अंधेरा डूबता
शहर ही पूरा कि सारा
उस रात
बदलता कौन ऐसी
एक नया चेहरा सा
लगा तुमने लिया था
निशा का अद्भुत स्वप्न
उस रात
मेरा पर ग़ज़ब का था
किया अधिकार तुमने।

और उतनी ही दूरियाँ
पर आज तक अन्तिम
सौ बार मुड करके भी
न आये फिर कभी हम
उस रात
लौटा चाँद ना फिर कभी
और अपनी वेदना मैं
आँखों की भाषा स्वयं
खुद मुझमें बोलती हैं?

70 Likes · 283 Views
You may also like:
"हम ना होंगें"
Lohit Tamta
"लाइलाज दर्द"
DESH RAJ
फरिश्तों सा कमाल है।
Taj Mohammad
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
"कभी मेरा ज़िक्र छिड़े"
Lohit Tamta
सच तो यह है
gurudeenverma198
ऐ मेघ
सिद्धार्थ गोरखपुरी
राब्ता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हाइकु:(कोरोना)
Prabhudayal Raniwal
✍️जिद्द..!✍️
"अशांत" शेखर
शासन वही करता है
gurudeenverma198
दया करो भगवान
Buddha Prakash
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
पिता का दर्द
Anamika Singh
【9】 *!* सुबह हुई अब बिस्तर छोडो *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️जीवन की ऊर्जा है पिता...!✍️
"अशांत" शेखर
जीने की वजह तो दे
Saraswati Bajpai
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
कविता - राह नहीं बदलूगां
Chatarsingh Gehlot
हे कुंठे ! तू न गई कभी मन से...
ओनिका सेतिया 'अनु '
शेर राजा
Buddha Prakash
मेहनत
Arjun Chauhan
हाइकु: आहार।
Prabhudayal Raniwal
छलकाओं न नैना
Dr. Alpa H. Amin
*दर्शन प्रभुजी दिया करो (गीत भजन)*
Ravi Prakash
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
Loading...