Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 19, 2022 · 1 min read

उस दिन

मद से लहराते क़दमों को
अनजान सी किसी डगर पर
मोड़ा था तुमने
जिस दिन
सागर की गहराई को
दर्द की उठती लहरों से
तौला था हमने
उस दिन

92 Views
You may also like:
शर्म-ओ-हया
Dr. Alpa H. Amin
नदी की अभिलाषा / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हैप्पी फादर्स डे (लघुकथा)
drpranavds
जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
அழியக்கூடிய மற்றும் அழியாத
Shyam Sundar Subramanian
पिता का साथ जीत है।
Taj Mohammad
" जीवित जानवर "
Dr Meenu Poonia
वो एक तुम
Saraswati Bajpai
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
धारण कर सत् कोयल के गुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जीवन की सौगात "पापा"
Dr. Alpa H. Amin
उसका नाम लिखकर।
Taj Mohammad
महान गुरु श्री रामकृष्ण परमहंस की काव्यमय जीवनी (पुस्तक-समीक्षा)
Ravi Prakash
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
तुझे देखा तो...
Dr. Meenakshi Sharma
उसने ऐसा क्यों किया
Anamika Singh
सृजनकरिता
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आतुरता
अंजनीत निज्जर
【28】 *!* अखरेगी गैर - जिम्मेदारी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
✍️"सूरज"और "पिता"✍️
"अशांत" शेखर
हाल ए इश्क।
Taj Mohammad
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
विसाले यार ना मिलता है।
Taj Mohammad
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...