Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jan 2022 · 1 min read

उसने तो प्यार में भी जलालत की है।

गज़ल-

उसने तो प्यार में भी जलालत की है।
मैंने तो प्यार कर के इबादत की है।

रोज कुछ देर को तुम भी बच्चा बनो,
मैंने हर रोज की ये ही आदत की है।

छीन लेते हैं जो भी गरीबों का हक,
दोस्तो उन पे मैंने तो लानत की है।

कोई गद्दारी है देश के सँग अगर,
ऐसे हर शख्स से मैनें नफरत की है।

बांटना प्यार है हर इँसां का चलन,
उनसे प्रेमी ने दिल से मुहब्बत की है।

…….✍️ प्रेमी

92 Views
You may also like:
हाइकु कविता- करवाचौथ
हाइकु कविता- करवाचौथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
महफ़िल से जाम से
महफ़िल से जाम से
Satish Srijan
हरयाणा ( हरियाणा दिवस पर विशेष)
हरयाणा ( हरियाणा दिवस पर विशेष)
Varun Singh Gautam
"किताब और कलम"
Dr. Kishan tandon kranti
जाम पीते हैं थोड़ा कम लेकर।
जाम पीते हैं थोड़ा कम लेकर।
सत्य कुमार प्रेमी
बाल कहानी- चतुर और स्वार्थी लोमड़ी
बाल कहानी- चतुर और स्वार्थी लोमड़ी
SHAMA PARVEEN
समय की गांठें
समय की गांठें
Shekhar Chandra Mitra
■ कल का पूर्वानुमान
■ कल का पूर्वानुमान
*Author प्रणय प्रभात*
स्पंदित अरदास!
स्पंदित अरदास!
Rashmi Sanjay
माना कि तेरे प्यार के काबिल नही हूं मैं
माना कि तेरे प्यार के काबिल नही हूं मैं
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Best ghazals of Shivkumar Bilagrami
Best ghazals of Shivkumar Bilagrami
Shivkumar Bilagrami
प्यारी चिड़ियाँ
प्यारी चिड़ियाँ
RAJA KUMAR 'CHOURASIA'
जो पहली ही ठोकर में यहाँ लड़खड़ा गये
जो पहली ही ठोकर में यहाँ लड़खड़ा गये
'अशांत' शेखर
Who is whose best friend
Who is whose best friend
Ankita Patel
कि मुझे सबसे बहुत दूर ले जाएगा,
कि मुझे सबसे बहुत दूर ले जाएगा,
Deepesh सहल
Unki julfo ki ghata bhi  shadid takat rakhti h
Unki julfo ki ghata bhi shadid takat rakhti h
Sakshi Tripathi
रविवार
रविवार
Shiva Awasthi
यह आत्मा ही है जो अस्तित्व और ज्ञान का अनुभव करती है ना कि श
यह आत्मा ही है जो अस्तित्व और ज्ञान का अनुभव...
Ankit Halke jha
आस्तीक भाग-आठ
आस्तीक भाग-आठ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Writing Challenge- धूप (Sunshine)
Writing Challenge- धूप (Sunshine)
Sahityapedia
एतबार उस पर इतना था
एतबार उस पर इतना था
Dr fauzia Naseem shad
३५ टुकड़े अरमानों के ..
३५ टुकड़े अरमानों के ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
अज़ब सा हाल तेरे मजनू ने बना रक्खा है By Vinit Singh Shayar
अज़ब सा हाल तेरे मजनू ने बना रक्खा है By...
Vinit kumar
भाग्य
भाग्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐प्रेम कौतुक-466💐
💐प्रेम कौतुक-466💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
#अपने तो अपने होते हैं
#अपने तो अपने होते हैं
Seema 'Tu hai na'
माँ सिद्धिदात्री
माँ सिद्धिदात्री
Vandana Namdev
नई सुबह नव वर्ष की
नई सुबह नव वर्ष की
जगदीश लववंशी
**
**
सूर्यकांत द्विवेदी
होली : नौ दोहे
होली : नौ दोहे
Ravi Prakash
Loading...