Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2022 · 1 min read

उसकी मर्ज़ी का

उसकी मर्ज़ी का खेल था सारा ।
हम तमाशा थे ज़िन्दगी के लिए ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
6 Likes · 134 Views
You may also like:
गुुल हो गुलशन हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
हया आँख की
Dr. Sunita Singh
मौसम
Surya Barman
मित्र
विजय कुमार 'विजय'
मैं तो अकेली चलती चलूँगी ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
अभी दिल भरा नही
Ram Krishan Rastogi
सद्आत्मा शिवाला
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
छठ महापर्व
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
बढ़ेगा फिर तो तेरा क़द
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बात क्या है जो नयन बहने लगे
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
तकनीकी के अग्रदूत राजीव गांधी का शिक्षा के प्रति दृष्टिकोण
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
तेरा साथ मुझको गवारा नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️मोहब्बत का सरमाया✍️
'अशांत' शेखर
ख़ुशियों का त्योहार मुबारक
आकाश महेशपुरी
छंदों में मात्राओं का खेल
Subhash Singhai
Karoge kadar khudki tab 🙏
Nupur Pathak
दर्द पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
तू सर्दियों की गुनगुनी धूप सा है।
Taj Mohammad
लाडली की पुकार!
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
ख़तरे में दुनिया
Shekhar Chandra Mitra
Writing Challenge- सपना (Dream)
Sahityapedia
मिस्टर एम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बहुत कुछ कहना है
Ankita
✴️✳️हर्ज़ नहीं है मुख़्तसर मुलाकात पर✳️✴️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अक्षय तृतीया की हार्दिक शुभकामनाएं
sheelasingh19544 Sheela Singh
पिता का आशीष
Prabhudayal Raniwal
रूठ गई हैं बरखा रानी
Dr Archana Gupta
माई री [भाग२]
Anamika Singh
*जेलों में जाते नेताजी 【हास्य-व्यंग्य गीतिका】*
Ravi Prakash
Loading...