Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#23 Trending Author
Jun 2, 2022 · 1 min read

उसकी दाढ़ी का राज

सुनो मेरे दोस्तों, मेरे हमख़्यालों,
समस्त विद्वानों, दौलतवालों,
आपके इस वतन में रहता है जो,
एक शख्स अपनी दाढ़ी बढ़ाये,
सुनो तुम अरे शौहरत वालों,
उसकी दाढ़ी का राज।

उसका भी है एक हिंदुस्तान,
उसकी भी है आजादी की दास्तां,
1857 की उसकी क्रांति की कहानी,
1942 और 1947 में उसका हाल,
जिसका हिस्सा है हर धर्म- जाति,
और बहाया है सभी ने अपना लहू,
उसके हिंदुस्तान के अस्तित्व के लिए,
हर मजहब ने दी है अपनी कुर्बानी।

बाँटता आया है वह अपनी मोहब्बत,
सभी को निःस्वार्थ बराबर-बराबर,
मगर कुछ है उसके दुश्मन भी,
जिन्होंने बेचा है अपना ईमान,
जो बाँट रहे हैं उसकी मोहब्बत को,
विभिन्न धर्मों और जातियों में,
और बहा रहे हैं खून की नदियां।

लेकिन जब तक नहीं होगी शांति,
खत्म दिलों की नफरत आपस में,
जब तक नहीं होगा गुलजार,
गुलशन यह वतन का,
नहीं होगी जब तक मुस्कान,
हर आदमी के चेहरे पर,
और नहीं हो जाता जब तक,
उसका हिंदुस्तान वह भारतवर्ष,
नहीं कटेगी उसकी दाढ़ी सच में,
यही है उसकी दाढ़ी का राज।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

94 Views
You may also like:
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
आप कौन है
Sandeep Albela
जीवन की प्रक्रिया में
Dr fauzia Naseem shad
लाख मिन्नते मांगी ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
✍️बगावत थी उसकी✍️
'अशांत' शेखर
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
बता कर ना जाना।
Taj Mohammad
मत ज़हर हबा में घोल रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रिय
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
कमर तोड़ता करधन
शेख़ जाफ़र खान
छोटा-सा परिवार
श्री रमण 'श्रीपद्'
शैशव की लयबद्ध तरंगे
Rashmi Sanjay
ए ! सावन के महीने क्यो मचाता है शोर
Ram Krishan Rastogi
तुम्हें देखा
Anamika Singh
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
*कृष्ण जैसा मित्र होना चाहिए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
बुद्ध पूर्णिमा पर तीन मुक्तक।
Anamika Singh
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
हवा का हुक़्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हर किसी की बात नही
Anamika Singh
गिरधर तुम आओ
शेख़ जाफ़र खान
शिकस्ता हाल।
Taj Mohammad
दिल है कि मानता ही नहीं
gurudeenverma198
क्या प्रात है !
Saraswati Bajpai
मंजिल की उड़ान
AMRESH KUMAR VERMA
💐भगवत्कृपा सर्वेषु सम्यक् रूपेण वर्षति💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दोस्ती का हर दिन ही
Dr fauzia Naseem shad
हमलोग
Dr.sima
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...