Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2018 · 1 min read

उल्लाला छंद विधान?

?? उल्लाला छंद ??
?विधान – १३-१३
??????????

उल्लाला रुचिकर बने, तेरह कल गिन के करें।
ग्यारहवां कल लघु रहे, चार चरण में रस भरें।
मात्रा सम पद में करो, विषम चरण हो ताल सम।
आठ तीन दो शुभ कला, लगती छंदन माल सम।।

छंद अनूठा हो सरस्, माँ वाणी की तान सा।
गुरुवर पूजा वन्दना, हरिहर के गुणगान सा।
‘तेज’ प्रकाशित कीजिए, काव्य कला कृत-कृत्य कर।
सोहे सज्जन सार से, शोभित शुभ साहित्य सर।

??????????
?तेज✏️मथुरा✍️

423 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तेजवीर सिंह "तेज"
View all
You may also like:
हो गई है भोर
हो गई है भोर
surenderpal vaidya
बड़ी मुश्किल से खुद को संभाल रखे है,
बड़ी मुश्किल से खुद को संभाल रखे है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
सृष्टि के रहस्य सादगी में बसा करते है, और आडंबरों फंस कर, हम इस रूह को फ़ना करते हैं।
सृष्टि के रहस्य सादगी में बसा करते है, और आडंबरों फंस कर, हम इस रूह को फ़ना करते हैं।
Manisha Manjari
"नमक"
*Author प्रणय प्रभात*
अहंकार और आत्मगौरव
अहंकार और आत्मगौरव
अमित कुमार
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
जगदीश शर्मा सहज
हेमन्त दा पे दोहे
हेमन्त दा पे दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बेटी ही बेटी है सबकी, बेटी ही है माँ
बेटी ही बेटी है सबकी, बेटी ही है माँ
Anand Kumar
घर से बेघर
घर से बेघर
Punam Pande
ਤੇਰੀ ਅੱਖ ਜਦ ਮੈਨੂੰ ਚੁੰਮੇ
ਤੇਰੀ ਅੱਖ ਜਦ ਮੈਨੂੰ ਚੁੰਮੇ
Surinder blackpen
* अपना निलय मयखाना हुआ *
* अपना निलय मयखाना हुआ *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Tumhari khahish khuch iss kadar thi ki sajish na samajh paya
Tumhari khahish khuch iss kadar thi ki sajish na samajh paya
Sakshi Tripathi
ग़ज़ल & दिल की किताब में -राना लिधौरी
ग़ज़ल & दिल की किताब में -राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सारे निशां मिटा देते हैं।
सारे निशां मिटा देते हैं।
Taj Mohammad
आखरी उत्तराधिकारी
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
करवा चौथ
करवा चौथ
VINOD KUMAR CHAUHAN
मासूम गुलाल (कुंडलिया)
मासूम गुलाल (कुंडलिया)
Ravi Prakash
आज
आज
Shyam Sundar Subramanian
तितली थी मैं
तितली थी मैं
Saraswati Bajpai
तुम नादानं थे वक्त की,
तुम नादानं थे वक्त की,
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
2371.पूर्णिका
2371.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
Dr.Priya Soni Khare
मैं तो सड़क हूँ,...
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
ऐसे खोया हूं तेरी अंजुमन में
ऐसे खोया हूं तेरी अंजुमन में
Amit Pandey
सार संभार
सार संभार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
दिया
दिया
Anamika Singh
ज़िंदगी से शिकायत
ज़िंदगी से शिकायत
Dr fauzia Naseem shad
न थी ।
न थी ।
Rj Anand Prajapati
प्रेम सुधा
प्रेम सुधा
लक्ष्मी सिंह
तुम हारिये ना हिम्मत
तुम हारिये ना हिम्मत
gurudeenverma198
Loading...