Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jul 2022 · 1 min read

उम्मीद

अपनी उम्मीदों का चराग जलाए रखना।
शक की आंधी से हमेशा बचाए रखना।
मैं आऊंगा मेरी जान तेरे सर की कसम।
बस अपनी धड़कन यूं ही बचाए रखना।।

Language: Hindi
2 Likes · 128 Views
You may also like:
दुर्गा मां से प्रार्थना
Dr.sima
हकीकत से रूबरू होता क्यों नहीं
कवि दीपक बवेजा
हरि चंदन बन जाये मिट्टी
Dr. Sunita Singh
अख़बारों में क्या रखा है?
Shekhar Chandra Mitra
उसे देख खिल जातीं कलियांँ
श्री रमण 'श्रीपद्'
Advice
Shyam Sundar Subramanian
ए. और. ये , पंचमाक्षर , अनुस्वार / अनुनासिक ,...
Subhash Singhai
*गगन में चौथ के भी चंद्र का टुकड़ा जरा कम...
Ravi Prakash
ज़िन्दा रहना है तो जीवन के लिए लड़
Shivkumar Bilagrami
देवी माँ के नौ दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
छत्रपति शिवाजी महाराज V/s संसार में तथाकथित महान समझे जाने...
Pravesh Shinde
स्वादिष्ट खीर
Buddha Prakash
फ़रियाद
VINOD KUMAR CHAUHAN
राहे -वफा
shabina. Naaz
गीत
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
अनसुनी~प्रेम कहानी
bhandari lokesh
जमातों में पढ़ों कलमा,
Satish Srijan
अजब-गजब इन्सान...
डॉ.सीमा अग्रवाल
युवा शक्ति
Kavita Chouhan
आस का दीपक
Rekha Drolia
संघर्ष पथ
Aditya Prakash
मुझे छल रहे थे
Anamika Singh
ताबीर तुम्हारे हर ख़्वाब की।
Taj Mohammad
रिश्तों में आई ख़ामोशी
Dr fauzia Naseem shad
कर्म प्रधान
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
✍️कोई नहीं ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अहमियत
Dushyant Kumar
कवि कर्म
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
मेरी बेटी मेरी सहेली
लक्ष्मी सिंह
Loading...