Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 9, 2022 · 1 min read

उमीद-ए-फ़स्ल का होना है ख़ून लानत है

ग़ज़ल
उमीद-ए-फ़स्ल का होना है ख़ून, लानत है
पलट के आया नहीं मानसून, लानत है

गिराने के लिए ही प्यार का मकाँ तूने
ख़ुलूस-ओ-अम्न का खींचा सुतून, लानत है

सरों से छीन लिया तूने आशियाना, और
हमारे सर पे खड़ा माह-ए-जून, लानत है

गुज़ारनी थी तुझे अपनी सर्द रातें जो
बदन से काटा है भेड़ों का ऊन, लानत है

अवाम मरती रही और देखता तू रहा।
कहाँ गया तेरा इल्म-ओ-फ़ुनून, लानत है

बची है घट के अब आधी ‘अनीस’ आमदनी
कहा था तूने कि होगी ये दून , लानत है
– अनीस शाह ‘अनीस’
सुतून =खम्बा, थामा। इल्म-ओ-फ़ुनून=ज्ञान और कलाएं।

2 Likes · 1 Comment · 75 Views
You may also like:
ज़िंदगी का हीरो
AMRESH KUMAR VERMA
सर रख कर रोए।
Taj Mohammad
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
अर्थ व्यवस्था मनि मेनेजमेन्ट
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
समय और मेहनत
Anamika Singh
धरती की अंगड़ाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
कविता : व्रीड़ा
Sushila Joshi
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
लौट आते तो
Dr fauzia Naseem shad
वो खुश हैं अपने हाल में...!!
Ravi Malviya
If We Are Out Of Any Connecting Language.
Manisha Manjari
दो दिन का प्यार था छोरी , दो दिन में...
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
आज का विकास या भविष्य की चिंता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
उसका नाम लिखकर।
Taj Mohammad
यह दुनियाँ
Anamika Singh
दोषस्य ज्ञानं निर्दोषं एव भवति
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उबारो हे शंकर !
Shailendra Aseem
आगे बढ़,मतदान करें।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तुलसी
AMRESH KUMAR VERMA
'' पथ विचलित हिंदी ''
Dr Meenu Poonia
आज़ादी का परचम
Rekha Drolia
*भादो की शुभ अष्टमी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सारी फिज़ाएं छुप सी गई हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
*श्री विष्णु शरण अग्रवाल सर्राफ द्वारा ध्यान का आयोजन*
Ravi Prakash
आने वाली नस्लों को बस यही बता देना।
सत्य कुमार प्रेमी
दिल का मोल
Vikas Sharma'Shivaaya'
नन्हीं बाल-कविताएँ
Kanchan Khanna
अगनित उरग..
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...