Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2022 · 1 min read

उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का नवगीत)

उफ ! ये गर्मी,
हाय ! गर्मी,
झर चुके सब
पात, सुख के ।

चिटचिटाती
शाख, मन की,
चिपचिपाती
धाक, तन की ।
तड़फड़ाते
जीव-जन्तु,
कसमसाते
प्रेम-तन्तु ।

उफ ! ये गर्मी,
हाय ! गर्मी,
जहर सूखे
नाग-मुख के ।

धकधकाती
साँस, शव की,
चुभ रही है
फाँस, भव की ।
चरमराते
कर्म सारे ।
तपतपाते
मर्म सारे ।

उफ ! ये गर्मी,
हाय ! गर्मी,
मंद होते
भाव, दुख के ।

तमतमाती
आँख-पुतली,
किलबिलाती
पाँख,तितली ।
उबलती है
नदी सूखी,
मचलती है
सदी भूखी ।

उफ ! ये गर्मी,
हाय ! गर्मी,
ताव उतरे
गरम-रुख के ।

उफ ! ये गर्मी,
हाय ! गर्मी,
झर चुके सब
पात, सुख के ।
000
— ईश्वर दयाल गोस्वामी ।

Language: Hindi
Tag: गीत
9 Likes · 8 Comments · 366 Views
You may also like:
मेरे पापा
Anamika Singh
हो गए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
विश्व मानसिक दिवस
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
वो हमें दिन ब दिन आजमाते रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
'गणेशा' तू है निराला
Seema 'Tu hai na'
भोजपुरी भाषा
Er.Navaneet R Shandily
तन्हाँ-तन्हाँ सफ़र
VINOD KUMAR CHAUHAN
अति का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
Daily Writing Challenge : New Beginning
Mukesh Kumar Badgaiyan,
माँ के लिए बेटियां
लक्ष्मी सिंह
काम का बोझ
जगदीश लववंशी
Little sister
Buddha Prakash
💐 मेरी तलाश💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️आसमाँ के परिंदे ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
पिता
Madhu Sethi
दुनिया हकीर है
shabina. Naaz
अपनी क्षमता पर
Dr fauzia Naseem shad
चंदा करवाचौथ का( गीत )
Ravi Prakash
साजिश अपने ही रचते हैं
gurudeenverma198
✍️जिंदगी और किस्मत
'अशांत' शेखर
बंदिशें भी थी।
Taj Mohammad
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
अप्रैल-फूल दोहा एकादशी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पानी के लिए लड़ेगी दुनिया, नहीं मिलेगा चुल्लू भर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बरसात में साजन और सजनी
Ram Krishan Rastogi
अब अरमान दिल में है
कवि दीपक बवेजा
शेर सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ये निम खामोशी तुम्हारी ( पूर्व प्रधान मंत्री श्री अटल...
ओनिका सेतिया 'अनु '
शुभ धनतेरस
Dr Archana Gupta
Loading...