Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

उन्हें बसाया दिल में

धरा अपनी कभी सोना, कभी चाँदी उगलती थी /
गजनबी लंग जाफ़र के कयामत को निरखतीथी/
=====================================

उन्हें बसाया दिल में इंतजार करते हैं/
उन्हे भुलाया मन से मगर प्यार करते हैं/
====================================

गर ज़मीं चाँद बन यों बिखरना अगर तुम
तुझे मेरी प्यासे बुझाना ही होगा /
=====================================

प्रेमी बनकर सदा याद आते हो जब,
मुझको जिगर मे बसाना ही होगा /
===============================
मन ख्वाबों का ऐसा समुंदर बहा कर
यामिनी चाँदनी बन आना ही होगा/

राजकिशोर मिश्र ‘राज’ प्रतापगढ़ी

124 Views
You may also like:
पिता का साथ जीत है।
Taj Mohammad
सुहावना मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
अब ज़िन्दगी ना हंसती है।
Taj Mohammad
पिता की छांव
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जाने कैसा दिन लेकर यह आया है परिवर्तन
आकाश महेशपुरी
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
🍀🌺परमात्मा सर्वोपरि🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विचलित मन
AMRESH KUMAR VERMA
बताओ तो जाने
Ram Krishan Rastogi
खूबसूरत तस्वीर
DESH RAJ
मां सरस्वती
AMRESH KUMAR VERMA
सौगंध
Shriyansh Gupta
किसी पथ कि , जरुरत नही होती
Ram Ishwar Bharati
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️बुनियाद✍️
"अशांत" शेखर
जाको राखे साईयाँ मार सके न कोय
Anamika Singh
मांडवी
Madhu Sethi
जवानी
Dr.sima
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
धीरता संग रखो धैर्य
Dr. Alpa H. Amin
वतन से यारी....
Dr. Alpa H. Amin
✍️सलं...!✍️
"अशांत" शेखर
तुम्हारे शहर में कुछ दिन ठहर के देखूंगा।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
गुरु तेग बहादुर जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बांस का चावल
सिद्धार्थ गोरखपुरी
इश्क नज़रों के सामने जवां होता है।
Taj Mohammad
Loading...