Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-365💐

उनकी हर बात याद है,आख़िरी मसाफ़त याद है,
मेरी याद याद है,उनकी हर याद बहुत याद है,
मैंने ज़िक्र छेड़ा था अपनी ओर से,वो क्या किए,
कभी सुनो हमसे,दिल पे बीती मुँह-ज़बानी याद है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
25 Views
You may also like:
नासूर का इलाज़
नासूर का इलाज़
Shekhar Chandra Mitra
★ जो मज़ा तेरी कातिल नजरों के नजारों में है। ★
★ जो मज़ा तेरी कातिल नजरों के नजारों में है।...
★ IPS KAMAL THAKUR ★
ओ साथी ओ !
ओ साथी ओ !
Buddha Prakash
दामोदर लीला
दामोदर लीला
Pooja Singh
नींद पर लिखे अशआर
नींद पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
हायकू
हायकू
Ajay Chakwate *अजेय*
यथार्थ से दूर
यथार्थ से दूर "सेवटा की गाथा" आदर्श स्तम्भ
Er.Navaneet R Shandily
अपने हाथ,
अपने हाथ,
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
बौराये-से फूल /
बौराये-से फूल /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरा बचपन
मेरा बचपन
Ankita Patel
इज़हार कर ले एक बार
इज़हार कर ले एक बार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
7…अमृत ध्वनि छन्द
7…अमृत ध्वनि छन्द
Rambali Mishra
*श्रमिक  (कुंडलिया)*
*श्रमिक (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Khamoshi bhi apni juban rakhti h
Khamoshi bhi apni juban rakhti h
Sakshi Tripathi
कान्हा हम बिसरब नहिं...
कान्हा हम बिसरब नहिं...
मनोज कर्ण
जनता के आगे बीन बजाना ठीक नहीं है
जनता के आगे बीन बजाना ठीक नहीं है
कवि दीपक बवेजा
प्रेम
प्रेम
Dr. Shailendra Kumar Gupta
🚩माँ, हर बचपन का भगवान
🚩माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️कुछ बाते…
✍️कुछ बाते…
'अशांत' शेखर
💐प्रेम कौतुक-216💐
💐प्रेम कौतुक-216💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उड़ता लेवे तीर
उड़ता लेवे तीर
Sadanand Kumar
हाथ मलना चाहिए था gazal by Vinit Singh Shayar
हाथ मलना चाहिए था gazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय- 1.
[ पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य ] अध्याय- 1.
Pravesh Shinde
एक दिन !
एक दिन !
Ranjana Verma
"समय से बड़ा जादूगर दूसरा कोई नहीं,
तरुण सिंह पवार
कविता
कविता
Vandana Namdev
बड़े हो गए नहीं है शिशुपन,
बड़े हो गए नहीं है शिशुपन,
Satish Srijan
Book of the day: काव्य मंजूषा (एक काव्य संकलन)
Book of the day: काव्य मंजूषा (एक काव्य संकलन)
Sahityapedia
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
*Author प्रणय प्रभात*
होली
होली
Dr Archana Gupta
Loading...