Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-329💐

ईश्वर भी सच्चा इश्क़ देखता है,
वफ़ा के गुलाबों को सहेजता है,
और देखता है वो एतिबार के रंग,
तब अपनी तराजू से तौलता है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
81 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"तिकड़मी दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
बगीचे में फूलों को
बगीचे में फूलों को
Manoj Tanan
Revenge shayari
Revenge shayari
★ IPS KAMAL THAKUR ★
ध्यान में इक संत डूबा मुस्कुराए
ध्यान में इक संत डूबा मुस्कुराए
Shivkumar Bilagrami
कैसे कहूँ ‘आनन्द‘ बनने में ज़माने लगते हैं
कैसे कहूँ ‘आनन्द‘ बनने में ज़माने लगते हैं
Anand Kumar
“माटी ” तेरे रूप अनेक
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
नशे में मुब्तिला है।
नशे में मुब्तिला है।
Taj Mohammad
"शिलालेख "
Slok maurya "umang"
सच्ची कला
सच्ची कला
Shekhar Chandra Mitra
💐प्रेम कौतुक-285💐
💐प्रेम कौतुक-285💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*सूने घर में बूढ़े-बुढ़िया, खिसियाकर रह जाते हैं (हिंदी गजल/
*सूने घर में बूढ़े-बुढ़िया, खिसियाकर रह जाते हैं (हिंदी गजल/
Ravi Prakash
साँप का जहर
साँप का जहर
मनोज कर्ण
गरीबों की झोपड़ी बेमोल अब भी बिक रही / निर्धनों की झोपड़ी में सुप्त हिंदुस्तान है
गरीबों की झोपड़ी बेमोल अब भी बिक रही / निर्धनों की झोपड़ी में सुप्त हिंदुस्तान है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
(Y) #मेरे_विचार_से
(Y) #मेरे_विचार_से
*Author प्रणय प्रभात*
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
Shashi kala vyas
【7】** हाथी राजा **
【7】** हाथी राजा **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
लाचार जन की हाय
लाचार जन की हाय
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जब से देखी है हमने उसकी वीरान सी आंखें.......
जब से देखी है हमने उसकी वीरान सी आंखें.......
कवि दीपक बवेजा
आपसे गुफ्तगू ज़रूरी है
आपसे गुफ्तगू ज़रूरी है
Surinder blackpen
आज नहीं तो कल होगा - डी के निवातिया
आज नहीं तो कल होगा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
नारी नारायणी
नारी नारायणी
Sandeep Pande
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फिर से ऐसी कोई भूल मैं
फिर से ऐसी कोई भूल मैं
gurudeenverma198
" ये धरती है अपनी...
VEDANTA PATEL
यें हक़ीक़त थी मेरे ख़्वाबों की
यें हक़ीक़त थी मेरे ख़्वाबों की
Dr fauzia Naseem shad
बंद पड़ीं है लेखनी
बंद पड़ीं है लेखनी
लक्ष्मी सिंह
*पुरानी पेंशन हक है मेरा(गीत)*
*पुरानी पेंशन हक है मेरा(गीत)*
Dushyant Kumar
ज़ाफ़रानी
ज़ाफ़रानी
Anoop 'Samar'
जीव कहे अविनाशी
जीव कहे अविनाशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
When the ways of this world are, but
When the ways of this world are, but
Dhriti Mishra
Loading...