Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 26, 2022 · 1 min read

ईश्वर की परछाई

बच्चे होते इरादेवान
इनका मन होता पाक
जैसे परिक्षेत्र में रहते
ये बालसुलभ से बच्चे
बड़े होने पर वो वैसे ही
स्वाभाविक बन जाते हैं
वत्स को उत्तम परिधि में
रखना एवं उत्तम वार्ता ही
सतत सिखलानी चाहिए
जो देखते, सीखते हैं वो
जैसे परिवेश में रहते यह
वैसा उनका बनना तय है ।

बच्चे होते प्यारे, न्यारे
उनका यह मृदुल हृदय
होता वृहत ही ब- पवित्र
उनकी बोली हुई वाणी में
होती कितनी है मिठास ?
ये प्रसव, फलप्रद तो होते
ईश्वर की परछाई भव में
कहा जाता कई मनुष्यों
पंडितों के द्वारा अर्भों मे
करता ईश्वर पद, निषेवण
जैसा मोहौल में पलते ये
वैसा ही आकर पाते यह ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

1 Like · 43 Views
You may also like:
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
Kavita Nahi hun mai
Shyam Pandey
"अरे ओ मानव"
Dr Meenu Poonia
उम्मीद
Harshvardhan "आवारा"
हिंदी व डोगरी की चहेती लेखिका पद्मा सचदेव का निधन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
काँटों का दामन हँस के पकड़ लो
VINOD KUMAR CHAUHAN
गुनहगार बन गए है।
Taj Mohammad
ईद मनाते हैं।
Taj Mohammad
साजन जाए बसे परदेस
Shivkumar Bilagrami
*श्री राजेंद्र कुमार शर्मा का निधन : एक युग का...
Ravi Prakash
कोरोना काल
AADYA PRODUCTION
अनोखा गुलाब (“माँ भारती ”)
DESH RAJ
महबूब ए इश्क।
Taj Mohammad
गीत - मैं अकेला दीप हूं
Shivkumar Bilagrami
"बदलाव की बयार"
Ajit Kumar "Karn"
चल रहा वो
Kavita Chouhan
शहीद की बहन और राखी
DESH RAJ
'नर्क के द्वार' (कृपाण घनाक्षरी)
Godambari Negi
बेजुबान
Anamika Singh
✍️✍️शिद्दत✍️✍️
'अशांत' शेखर
मौत ने की हमसे साज़िश।
Taj Mohammad
उनकी आमद हुई।
Taj Mohammad
हर घर तिरंगा
अश्विनी कुमार
अमृत महोत्सव मनायेंगे
नूरफातिमा खातून नूरी
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
हरीतिमा स्वंहृदय में
Varun Singh Gautam
शत शत नमन उन सपूतों को
gurudeenverma198
योग तराना एक गीत (विश्व योग दिवस)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पर्यावरण दिवस
Ram Krishan Rastogi
एक पत्र बच्चों के लिए
Manu Vashistha
Loading...