Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#19 Trending Author
Sep 2, 2017 · 1 min read

इसी से सद्आत्मिक -आनंदमय आकर्ष हूँ

छोड़ कर जग-द्वंद, मैं शुभ मुहब्बत गह हर्ष हूँ |
दिल गलाऊँ ,मोमबत्ती-सम जलूँ , आदर्श हूँ |
हिंद पावन औ सदा ही प्यारमय अतिशय सघन
इसी से सद् आत्मिक-आनंदमय आकर्ष हूँ|
…………………………………………….
बृजेश कुमार नायक
जागा हिंदुस्तान चाहिए एवं क्रौंच सुऋषि आलोक कृतियों के प्रणेता

1 Like · 1 Comment · 267 Views
You may also like:
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
आज की पत्रकारिता
Anamika Singh
जिंदगी देखा तुझे है आते औ'र जाते हुए।
सत्य कुमार प्रेमी
पैसे की महिमा
Ram Krishan Rastogi
यह कैसा प्यार है
Anamika Singh
** तेरा बेमिसाल हुस्न **
DESH RAJ
शिव और सावन
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बेवफ़ा कहलाए है।
Taj Mohammad
आज नहीं तो कल होगा / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
इच्छाओं का घर
Anamika Singh
"हमारी मातृभाषा हिन्दी"
Prabhudayal Raniwal
पथ पर बैठ गए क्यों राही
Anamika Singh
अमृत महोत्सव मनायेंगे
नूरफातिमा खातून नूरी
शोहरत नही मिली।
Taj Mohammad
हमको जो समझे हमीं सा ।
Dr fauzia Naseem shad
'नज़रिया'
Godambari Negi
अजी मोहब्बत है।
Taj Mohammad
महादेवी वर्मा जी की वेदना
Ram Krishan Rastogi
रोना भी बहुत जरूरी है।
Taj Mohammad
ये लखनऊ है मेरी जान।
Taj Mohammad
विश्व हास्य दिवस
Dr Archana Gupta
लॉकडाउन गीतिका
Ravi Prakash
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
“ THANKS नहि श्रेष्ठ केँ प्रणाम करू “
DrLakshman Jha Parimal
दिल और गुलाब
Vikas Sharma'Shivaaya'
✍️अल्फाज़ो का कोहिनूर "ताज मोहम्मद"✍️
'अशांत' शेखर
*राजनीति में बाहुबल का प्रशिक्षण (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
सच्चाई का दर्पण.....
Dr.Alpa Amin
रक्षा बंधन :दोहे
Sushila Joshi
Loading...