Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 13, 2022 · 1 min read

इश्क़―की―आग

इश्क में कौन पूछता कौन साँ धरम है।
ये तो बस उस ख़ुदा का रहम करम है।।
किसी की कमी इतनी खलनी लगे तो
समझ जाना वो जिंदगी में अहम है।

वो ना होकर भी हर जगह नजर आए
तो समझ जाना कि वो सिर्फ वहम है।

हो मुलाकात मुसाफ़िर की तरह कही
तो समझना ये उस ख़ुदा का करम है।

मिले थे पर नजर ,नजरो से ना मिले
तो समझ जाना मोहब्बत का शरम है।

हवा की तरह बहता इश्क इस सँसार में
हर किसी का दिल इश्क़ से हुआ नरम है

जुदाई में जल रहा पूरा तन मन ये बदन
इश्क़-ए-आग में जलकर बदन गरम है।

इश्क में कौन पूछता कौन साँ धरम है।
ये तो बस उस ख़ुदा का रहम करम है।।

©® प्रेमयाद कुमार नवीन
जिला – महासमुन्द (छःग)

2 Likes · 101 Views
You may also like:
✍️मातम और सोग है...!✍️
'अशांत' शेखर
प्रेयसी पुनीता
Mahendra Rai
खुद से बच कर
Dr fauzia Naseem shad
विद्यालय का गृहकार्य
Buddha Prakash
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
*इस बार पार कर दो (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
ज्ञान की बात
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
उनका लिखा कलाम सा लगता है।
Taj Mohammad
पिता
Saraswati Bajpai
آج کی رات ان آنکھوں میں بسا لو مجھ کو
Shivkumar Bilagrami
पिताजी
विनोद शर्मा सागर
मैं मेहनत हूँ
Anamika Singh
बस तुम ही तुम हो।
Taj Mohammad
बे'एतबार से मौसम की
Dr fauzia Naseem shad
गुजरे लम्हे सुनो बहुत सुहाने थे
VINOD KUMAR CHAUHAN
बहुत बुरा लगेगा दोस्त
gurudeenverma198
जय जय इंडियन आर्मी
gurudeenverma198
नई तकदीर
मनोज कर्ण
" जय हो "
DrLakshman Jha Parimal
आंधियां आती हैं सबके हिस्से में, ये तथ्य तू कैसे...
Manisha Manjari
We Would Be Connected Actually
Manisha Manjari
आया रक्षाबंधन का त्योहार
Anamika Singh
कर्म
Rakesh Pathak Kathara
राब्ता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आप तो आप ही हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️दिल बहल जाता है।✍️
'अशांत' शेखर
कलम बन जाऊंगा।
Taj Mohammad
बुरी आदत
AMRESH KUMAR VERMA
✍️✍️असर✍️✍️
'अशांत' शेखर
Loading...