Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 27, 2021 · 1 min read

इश्क

इश्क़ इबादत है तेरी
किए जा रहा हूं मैं
इश्क़ जुनून है मेरा
जिए जा रहा हूं मैं
इश्क़ की अलिफ बे भी
जब नहीं जानता था मैं
इश्क़ तभी से तुझे
किए जा रहा हूं मैं।

संजय श्रीवास्तव
बालाघाट (मध्यप्रदेश)

1 Comment · 154 Views
You may also like:
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
कमियाँ
Anamika Singh
" जननायक "
DrLakshman Jha Parimal
अधूरा यज्ञ (नाटक)*
Ravi Prakash
तू बोल तो जानूं
Harshvardhan "आवारा"
पिंजरबद्ध प्राणी की चीख
AMRESH KUMAR VERMA
आकर मेरे ख्वाबों में, पर वे कहते कुछ नहीं
Ram Krishan Rastogi
✍️बेसब्र मिज़ाज✍️
'अशांत' शेखर
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
भ्रष्टाचार पर कुछ पंक्तियां
Ram Krishan Rastogi
मिसाइल मैन
Anamika Singh
“ अरुणांचल प्रदेशक “ सेला टॉप” “
DrLakshman Jha Parimal
✍️मेरी जान मुंबई है✍️
'अशांत' शेखर
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
मैंने उस पल को
Dr fauzia Naseem shad
इंसान
Annu Gurjar
पहचान
Anamika Singh
मुकद्दर ने
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
जिंदगी एक कविता
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
✍️अजनबी की तरह...!✍️
'अशांत' शेखर
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ज़िंदगी की हक़ीक़त से
Dr fauzia Naseem shad
दया करो भगवान
Buddha Prakash
✍️लॉकडाउन✍️
'अशांत' शेखर
तुमसे अगर प्यार अगर सच्चा न होता
gurudeenverma198
हे महाकाल, शिव, शंकर।
Taj Mohammad
कच्चे धागे का मूल्य
Seema 'Tu haina'
रामायण आ रामचरित मानस मे मतभिन्नता -खीर वितरण
Rama nand mandal
ज्यादा रोशनी।
Taj Mohammad
✍️हाथ के सारे तिरंगे ऊँचे लहराये..!✍️
'अशांत' शेखर
Loading...