Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#4 Trending Author
May 3, 2022 · 1 min read

इश्क में तुम्हारे गिरफ्तार हो गए।

इश्क में तुम्हारे गिरफ्तार हो गए।
दूसरों के लिए हम बेकार हो गए।।1।।

सलीका ना था बात करने का हमें।
मोहब्बत करके समझदार हो गए।।2।।

बड़ी शिद्दत से तुमसे प्यार करके।
अशिकों में हम असरदार हो गए।।3।।

बेनूर सी ये जिन्दगी थी अब तक।
नूर की दौलत से मालदार हो गए।।4।।

तुमको चाहने वालों से दुश्मनी है।
इश्के दुश्मनों से खबरदार हो गए।।5।।

जबसे बने हो दिलदार तुम हमारे।
तुम्हारे इश्क में बे-दीनदार हो गए।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

74 Views
You may also like:
कलम
AMRESH KUMAR VERMA
बाबू जी
Anoop Sonsi
यादें आती हैं
Krishan Singh
नाम लेकर भुला रहा है
Vindhya Prakash Mishra
अल्फाज़ ए ताज भाग-6
Taj Mohammad
गुरु तेग बहादुर जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
होना सभी का हिसाब है।
Taj Mohammad
पर्यावरण
Vijaykumar Gundal
कबीर के राम
Shekhar Chandra Mitra
कायनात के जर्रे जर्रे में।
Taj Mohammad
प्रतीक्षा करना पड़ता।
Vijaykumar Gundal
तुम मेरे वो तुम हो...
Sapna K S
दोहे
सूर्यकांत द्विवेदी
शृंगार छंद और विधाएं
Subhash Singhai
अनोखा गुलाब (“माँ भारती ”)
DESH RAJ
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH
ईद
Khushboo Khatoon
" हसीन जुल्फें "
DESH RAJ
मत ज़हर हबा में घोल रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरे पापा...
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
प्रेयसी
Dr. Sunita Singh
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
✍️✍️जरी ही...!✍️✍️
"अशांत" शेखर
गर्भ से बेटी की पुकार
Anamika Singh
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
#रिश्ते फूलों जैसे
आर.एस. 'प्रीतम'
मम्मी म़ुझको दुलरा जाओ..
Rashmi Sanjay
धरती माँ का करो सदा जतन......
Dr. Alpa H. Amin
वक्त मलहम है।
Taj Mohammad
स्वर्गीय रईस रामपुरी और उनका काव्य-संग्रह एहसास
Ravi Prakash
Loading...