Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#18 Trending Author
Jun 28, 2022 · 1 min read

इश्क भी कलमा।

मोहब्बत का जब नगमा बन जाता है।।
यूँ फिर इश्क़ भी कलमा बन जाता है।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

47 Views
You may also like:
आईनें में सूरत।
Taj Mohammad
पर्यावरण बचाओ रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️किसान के बैल की संवेदना✍️
'अशांत' शेखर
नागफनी बो रहे लोग
शेख़ जाफ़र खान
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
फारसी के विद्वान श्री नावेद कैसर साहब से मुलाकात
Ravi Prakash
पहले वाली मोहब्बत।
Taj Mohammad
कुछ बारिशें बंजर लेकर आती हैं।
Manisha Manjari
गुणगान क्यों
spshukla09179
चिंता और चिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
हाँ, वह "पिता" है ...........
Mahesh Ojha
साथ समय के चलना सीखो...
डॉ.सीमा अग्रवाल
" छुपी प्रतिभा "
DrLakshman Jha Parimal
खत्म तुमको भी मैं कर देता अब तक
gurudeenverma198
देश की शान है बेटियां
Ram Krishan Rastogi
वोट भी तो दिल है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शत शत नमन उन सपूतों को
gurudeenverma198
✍️कोई मसिहाँ चाहिए..✍️
'अशांत' शेखर
लाल में तुम ग़ुलाब लगती हो
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
"मैं पाकिस्तान में भारत का जासूस था" किताबवाले महान जासूस...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*श्री विष्णु प्रभाकर जी के कर - कमलों द्वारा मेरी...
Ravi Prakash
✍️KITCHEN✍️
'अशांत' शेखर
मेरे पिता
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
✍️सब्र कर✍️
Vaishnavi Gupta
ख़्वाहिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
पसीना।
Taj Mohammad
साथ भी दूंगा नहीं यार मैं नफरत के लिए।
सत्य कुमार प्रेमी
दिए जो गम तूने, उन्हे अब भुलाना पड़ेगा
Ram Krishan Rastogi
तुम्हारी जुदाई ने।
Taj Mohammad
Loading...