Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author
Apr 22, 2022 · 1 min read

दिल टूट करके।

दिल टूट करके इश्क की यादों में रह गया है।
हमारें जिस्मों जां का मालिक हमसे रूठ गया है।।1।।

अब तन्हाई में बैठ कर हम उससे मिलते है।
जिसका दर्द अश्क बन कर नज़रों से बह गया है।।2।।

हम समझ रहें थे उसको हम भूला बैठे है।
याद आई तो समझे इश्के निशां हममें रह गया है।।3।।

कोई कैसे समझाएं इस मासूम से दिलको।
वो नज़र आया तो धड़क कर ख़ुद में रह गया है।।4।।

बड़ा अकीदा था उन पर कुछ मदद करेगा।
आकर चंद अल्फाज़ कहकर जो यूं चल दिया है।।5।।

यूं शम्मा सारी रात जलती रही तन्हाई में।
परवाना ही जल करके इश्क में अपने मर गया है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

78 Views
You may also like:
आया आषाढ़
श्री रमण
बाबा अब जल्दी से तुम लेने आओ !
Taj Mohammad
देवदूत डॉक्टर
Buddha Prakash
दूध होता है लाजवाब
Buddha Prakash
मांडवी
Madhu Sethi
लिखे आज तक
सिद्धार्थ गोरखपुरी
✍️तर्क✍️
"अशांत" शेखर
🍀🌺परमात्मा सर्वोपरि🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आ तुझको तुझ से चुरा लू
Ram Krishan Rastogi
जगत के स्वामी
AMRESH KUMAR VERMA
हनुमान जयंती पर कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
हम आ जायेंगें।
Taj Mohammad
!?! सावधान कोरोना स्लोगन !?!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
याद आते हैं।
Taj Mohammad
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
गम तेरे थे।
Taj Mohammad
" जीवित जानवर "
Dr Meenu Poonia
बे-इंतिहा मोहब्बत करते हैं तुमसे
VINOD KUMAR CHAUHAN
तमाल छंद में सभी विधाएं सउदाहरण
Subhash Singhai
कब आओगे
dks.lhp
बेटी जब घर से भाग जाती है
Dr. Sunita Singh
जुल्म की इन्तहा
DESH RAJ
दीपावली
Dr Meenu Poonia
वफा की मोहब्बत।
Taj Mohammad
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अँधेरा बन के बैठा है
आकाश महेशपुरी
जवानी
Dr.sima
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
भारत की जमीं
DESH RAJ
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
Loading...