Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 27, 2022 · 1 min read

इश्क।

मुकम्मल हो तो अहम है।
वरना इश्क एक वहम है।।

✍️✍️ ताज मोहम्मद ✍️✍️

3 Likes · 4 Comments · 58 Views
You may also like:
✍️नारी सम्मान✍️
'अशांत' शेखर
तरुण वह जो भाल पर लिख दे विजय।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
श्रृंगार
Alok Saxena
मन का मोह
AMRESH KUMAR VERMA
वह खूब रोए।
Taj Mohammad
" विचित्र उत्सव "
Dr Meenu Poonia
A pandemic 'Corona'
Buddha Prakash
✍️हलाल✍️
'अशांत' शेखर
राहों के कांटे हटाते ही रहें।
सत्य कुमार प्रेमी
विधाता स्वरूप पिता
AMRESH KUMAR VERMA
स्वर्ग नरक का फेर
Dr Meenu Poonia
अच्छा लगता है।
Taj Mohammad
याद मेरी तुम्हे आती तो होगी
Ram Krishan Rastogi
तन्हाई के आलम में।
Taj Mohammad
पिता की व्यथा
मनोज कर्ण
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
गुरु की महिमा पर कुछ दोहे
Ram Krishan Rastogi
सितारे बुलंद थे मेरे
shabina. Naaz
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
दिल का करार।
Taj Mohammad
मुझे धोखेबाज न बनाना।
Anamika Singh
मृत्यु
AMRESH KUMAR VERMA
तुम्हें देखा
Anamika Singh
गम होते हैं।
Taj Mohammad
मेरे पापा
Anamika Singh
'वर्षा ऋतु'
Godambari Negi
वह मुझे याद आती रही रात भर।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
*माँ छिन्नमस्तिका 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
संविधान की गरिमा
Buddha Prakash
Loading...