Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-234💐

इश्क़ करे वो कागज़ की नाव सा,
मैं कब कहाँ था उनके ताब सा।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
58 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
सिलवटें आखों की कहती सो नहीं पाए हैं आप ।
सिलवटें आखों की कहती सो नहीं पाए हैं आप ।
Prabhu Nath Chaturvedi
आजावो माँ घर,लौटकर तुम
आजावो माँ घर,लौटकर तुम
gurudeenverma198
👉 ताज़ा ग़ज़ल :--
👉 ताज़ा ग़ज़ल :--
*Author प्रणय प्रभात*
भक्ति -गजल
भक्ति -गजल
rekha mohan
रिश्ते दिलों के अक्सर इसीलिए
रिश्ते दिलों के अक्सर इसीलिए
Amit Pandey
💐प्रेम कौतुक-456💐
💐प्रेम कौतुक-456💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दीपावली 🎇🪔❤️
दीपावली 🎇🪔❤️
Skanda Joshi
नारी वो…जो..
नारी वो…जो..
Rekha Drolia
शब्द वाणी
शब्द वाणी
Vijay kannauje
जब सिस्टम ही चोर हो गया
जब सिस्टम ही चोर हो गया
आकाश महेशपुरी
डोसा सब को भा रहा , चटनी-साँभर खूब (कुंडलिया)
डोसा सब को भा रहा , चटनी-साँभर खूब (कुंडलिया)
Ravi Prakash
अब की बार पत्थर का बनाना ए खुदा
अब की बार पत्थर का बनाना ए खुदा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
किसी को नीचा दिखाना , किसी पर हावी होना ,  किसी को नुकसान पह
किसी को नीचा दिखाना , किसी पर हावी होना , किसी को नुकसान पह
Seema Verma
पातुक
पातुक
शांतिलाल सोनी
परिवार
परिवार
Sandeep Pande
In wadiyo me yuhi milte rahenge ,
In wadiyo me yuhi milte rahenge ,
Sakshi Tripathi
पल पल का अस्तित्व
पल पल का अस्तित्व
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मेरी नन्ही परी।
मेरी नन्ही परी।
लक्ष्मी सिंह
फासीवाद के ख़तरे
फासीवाद के ख़तरे
Shekhar Chandra Mitra
संसद उद्घाटन
संसद उद्घाटन
Sanjay
स्थायित्व कविता
स्थायित्व कविता
Shyam Pandey
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तुम भोर हो!
तुम भोर हो!
Ranjana Verma
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
सत्य कुमार प्रेमी
"बेवकूफ हम या गालियां"
Dr Meenu Poonia
*वो बीता हुआ दौर नजर आता है*(जेल से)
*वो बीता हुआ दौर नजर आता है*(जेल से)
Dushyant Kumar
मूकनायक
मूकनायक
मनोज कर्ण
प्यार की दिव्यता
प्यार की दिव्यता
Seema gupta,Alwar
करीब हो तुम मगर
करीब हो तुम मगर
Surinder blackpen
वक़्त से
वक़्त से
Dr fauzia Naseem shad
Loading...