Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Apr 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-539💐

इन पयामों से किन्हीं मुक़द्दस यादों का वास्ता है,
बस मेरा दिल ही है जो उनके आने का रास्ता है,
पर कब तक यह सब चलेगा मेरे दोस्त बताओ तो,
इस दुनियाँ में मतलब तक हर किसी का वास्ता है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”
बात कर लो,बच्चा।समस्या बता दी।

Language: Hindi
134 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ख्वाहिश
ख्वाहिश
Neelam Sharma
जीवन संगनी की विदाई
जीवन संगनी की विदाई
Ram Krishan Rastogi
अपने सुख के लिए, दूसरों को कष्ट देना,सही मनुष्य पर दोषारोपण
अपने सुख के लिए, दूसरों को कष्ट देना,सही मनुष्य पर दोषारोपण
विमला महरिया मौज
संस्कृति से संस्कृति जुड़े, मनहर हो संवाद।
संस्कृति से संस्कृति जुड़े, मनहर हो संवाद।
डॉ.सीमा अग्रवाल
■ धर्म चिंतन / सत्यान्वेषण समय की पुकार
■ धर्म चिंतन / सत्यान्वेषण समय की पुकार
*Author प्रणय प्रभात*
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
का कहीं रहन अपना सास के
का कहीं रहन अपना सास के
नूरफातिमा खातून नूरी
अविरल
अविरल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्यार
प्यार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कश्मीर में चल रहे जवानों और आतंकीयो के बिच मुठभेड़
कश्मीर में चल रहे जवानों और आतंकीयो के बिच मुठभेड़
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
शख्सियत - मॉं भारती की सेवा के लिए समर्पित योद्धा 'जनरल वीके सिंह'
शख्सियत - मॉं भारती की सेवा के लिए समर्पित योद्धा 'जनरल वीके सिंह'
Deepak Kumar Tyagi
"नींद का देवता"
Dr. Kishan tandon kranti
*सेहरा-लेखक फॅंस गया (हास्य व्यंग्य)*
*सेहरा-लेखक फॅंस गया (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सच तुम बहुत लगती हो अच्छी
सच तुम बहुत लगती हो अच्छी
gurudeenverma198
मुस्कुराना चाहते हो
मुस्कुराना चाहते हो
surenderpal vaidya
ये आग कब बुझेगी?
ये आग कब बुझेगी?
Shekhar Chandra Mitra
Raat gai..
Raat gai..
Vandana maurya
परीक्षा एक उत्सव
परीक्षा एक उत्सव
Sunil Chaurasia 'Sawan'
“ खाइतो छी आ गुंगुअवैत छी “
“ खाइतो छी आ गुंगुअवैत छी “
DrLakshman Jha Parimal
योग दिवस पर कुछ दोहे
योग दिवस पर कुछ दोहे
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
Anil chobisa
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा...!!
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा...!!
Taj Mohammad
प्रेम की बात जमाने से निराली देखी
प्रेम की बात जमाने से निराली देखी
Vishal babu (vishu)
अपने
अपने
Shyam Sundar Subramanian
सत्यमंथन
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
ज़रा सी बात पर ghazal by Vinit Singh Shayar
ज़रा सी बात पर ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
पिता
पिता
Buddha Prakash
कुछ हम भी बदल गये
कुछ हम भी बदल गये
Dr fauzia Naseem shad
Loading...