Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#10 Trending Author
May 31, 2022 · 1 min read

इन्सानों का ये लालच तो देखिए।

इन्सानों का ये लालच तो देखिए।
जमीं तो जमीं है आसमां बांट लिया है।।1।।

पक्षी,नदियां और हवा के झोंके।
इन सबको ही सरहदो में बांट दिया है।।2।।

बनता है यतीमों का हिमायती।
इनके हिस्से का सब कुछ खा गया है।।3।।

इश्क के नाम पर यह लूटता है।
मोहब्बत वाला ऐसे सितम ढा गया है।।4।।

हम अकीदे पर मारे गए उसके।
जो बेवफ़ा हमको दफना कर गया है।।5।।

जिनके लिए गमों को सह गए।
वही मेरी बरबादी पर मुस्कुरा रहा है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

81 Views
You may also like:
नित हारती सरलता है।
Saraswati Bajpai
*सदा तुम्हारा मुख नंदी शिव की ही ओर रहा है...
Ravi Prakash
मायके की धूप रे
Rashmi Sanjay
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
पंछी हमारा मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
देव शयनी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माहौल का प्रभाव
AMRESH KUMAR VERMA
रात में सो मत देरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
🌺प्रेम की राह पर-54🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जिंदगी और करार
ananya rai parashar
लबों से मुस्करा देते है।
Taj Mohammad
✍️सूफ़ियाना जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌺🍀दोषा: च एतेषां सत्ता🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
💐प्रेम की राह पर-33💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इश्क की आग।
Taj Mohammad
पाकीज़ा इश्क़
VINOD KUMAR CHAUHAN
एक असमंजस प्रेम...
Sapna K S
सार्थक हो जिसका
Dr fauzia Naseem shad
✍️I am a Laborer✍️
'अशांत' शेखर
✍️'गंगा बहती है'✍️
'अशांत' शेखर
शारीरिक भाषा (बाॅडी लेंग्वेज)
पूनम झा 'प्रथमा'
रूला दे ये ज़िंदगी
Dr fauzia Naseem shad
'सनातन ज्ञान'
Godambari Negi
आज फिर मैं
gurudeenverma198
Nurse An Angel
Buddha Prakash
बस एक ही भूख
DESH RAJ
गुज़र रही है जिंदगी...!!
Ravi Malviya
✍️शरारत✍️
'अशांत' शेखर
सारे द्वार खुले हैं हमारे कोई झाँके तो सही
Vivek Pandey
Loading...