Oct 10, 2016 · 1 min read

इक रेशमी रुमाल

दीवाना कर गया मखमली सवाल आपका
था वो हक़ीक़त या फिर इक ख्याल आपका
********************************
ढूंढता रहा रात भर निशां तेरे ख्वाबों में मै
मिला सुबह रुख पे इक रेशमी रुमाल आपका
*********************************
कपिल कुमार
10/10/2016

1 Comment · 232 Views
You may also like:
# पिता ...
Chinta netam मन
कामयाबी
डी. के. निवातिया
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
काफ़िर जमाना
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:35
AJAY AMITABH SUMAN
उम्मीदों के परिन्दे
Alok Saxena
वोह जब जाती है .
ओनिका सेतिया 'अनु '
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
एक आवाज़ पर्यावरण की
Shriyansh Gupta
"शौर्य"
Lohit Tamta
मज़हबी उन्मादी आग
Dr. Kishan Karigar
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खुशबू चमन की किसको अच्छी नहीं लगती।
Taj Mohammad
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विश्व हास्य दिवस
Dr Archana Gupta
फिजूल।
Taj Mohammad
देवता सो गये : देवता जाग गये!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
समय और रिश्ते।
Anamika Singh
पिता
Aruna Dogra Sharma
सारे ही चेहरे कातिल हैं।
Taj Mohammad
कविता " बोध "
vishwambhar pandey vyagra
न्याय का पथ
AMRESH KUMAR VERMA
परेशां हूं बहुत।
Taj Mohammad
मोहब्बत की दर्द- ए- दास्ताँ
Jyoti Khari
वीर चंद्र सिंह गढ़वाली पर दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सुभाष चंद्र बोस
Anamika Singh
【31】{~} बच्चों का वरदान निंदिया {~}
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
"दोस्त"
Lohit Tamta
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
Loading...