Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#21 Trending Author

इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !

अरे इंसाफ के ठेकेदारों !
तुम शर्म करो,कुछ शर्म करो ।
निर्दोष ,अभागे कश्मीरी पंडितों,के ,
खून की यूं न नीलामी करो।
उनकी पीड़ित आत्माएं तड़प रही है ,
इंसाफ पाने को ।
जो जोर जुल्म ,हत्याएं ,बलात्कार ,
वहशियाना बर्ताव हुआ उनके साथ ,
तुम्हारे साथ होता तो क्या होता ?
कल्पना करो ।
इंसान की आहोंं से उनके श्राप से डरो।
और कुछ नहीं तो कम से कम ,
भगवान से तो डरो ।
गुनाहों की तो देश में कमी नहीं ,
और हद भी नहीं ।
मगर तुम्हारे इंसाफ की हद है।
कोई कितना भी बड़ा गुनाह करे ,
अब मृत्यु दण्ड भी नही ,
मात्र आजीवन कारावास !
यह तुम्हें काफी लगता होगा ।
मगर यह काफी नहीं।
खुद को पीड़ितों की जगह रखकर सोचो ।
फिर इंसाफ करो ।
पूरी योजना बनाकर ,
संगठन बनाकर ,
जिसने दुश्मन देश से धन कमाया ,
और फिर कश्मीर पर सम्पूर्ण अधिकार ,
जमाने हेतु कश्मीरी पंडितों को ,
उनकी मातृ भूमि से निकाला ।
और भयंकर नृशंस हत्याकांड किया ,
उसे उम्र कैद नहीं फांसी की दरकार थी ।
क्यों बैठे हो ! और कैसे बैठे हो ,
न्यायलय की कुर्सी पर ?
जरा जवाब दो ।
इस घोर ना इंसाफी पर शर्म सार होना चाहिए था ,
तुम्हें !
शर्म करो ! शर्म करो !

85 Views
You may also like:
चार
Vikas Sharma'Shivaaya'
💐💐परमात्मा इन्द्रियादिभि: परेय💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️रात साजिशों में है✍️
'अशांत' शेखर
*स्वर्गीय कैलाश चंद्र अग्रवाल की काव्य साधना में वियोग की...
Ravi Prakash
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
रुक्सत रुक्सत बदल गयी तू
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
मुहब्बत फूल होती है मगर
shabina. Naaz
दाने दाने पर नाम लिखा है
Ram Krishan Rastogi
पूरी करता घर की सारी, ख्वाहिशों को वो पिता है।
सत्य कुमार प्रेमी
बहाना
Vikas Sharma'Shivaaya'
✍️कालापिला✍️
'अशांत' शेखर
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
खुशियां तो होंगी वहां पर।
Taj Mohammad
तेरी नजरों में।
Taj Mohammad
✍️एक घना दश्त है✍️
'अशांत' शेखर
मिलन की तड़प
Dr.Alpa Amin
तुम हो फरेब ए दिल।
Taj Mohammad
✍️किरदार ✍️
'अशांत' शेखर
🍀प्रेम की राह पर-55🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*दर्शन प्रभुजी दिया करो (गीत भजन)*
Ravi Prakash
"फौजी और उसका शहीद साथी"
Lohit Tamta
अब जो बिछड़े तो
Dr fauzia Naseem shad
मेहनत
Arjun Chauhan
एक पत्र बच्चों के लिए
Manu Vashistha
#मैं_पथिक_हूँ_गीत_का_अरु, #गीत_ही_अंतिम_सहारा।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
फुर्तीला घोड़ा
Buddha Prakash
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
जिन्दगी है हमसे रूठी।
Taj Mohammad
Loading...