Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2022 · 1 min read

आह! भूख और गरीबी

आह! भूख, गरीबी,
बेबसी और लाचारी।
कूड़े के ढेर में भी
रिज़्क को तलाश लेती है ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
7 Likes · 129 Views
You may also like:
मौसम तो बस बहाना हुआ है
Kaur Surinder
प्रलय गीत
मनोज कर्ण
संताप
ओनिका सेतिया 'अनु '
नभ में था वो एक सितारा
Kavita Chouhan
खुद को तुम पहचानो नारी [भाग २]
Anamika Singh
【20】 ** भाई - भाई का प्यार खो गया **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जुल्फ जब खुलकर बिखर गई
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
जर्मनी से सबक लो
Shekhar Chandra Mitra
विभिन्न पत्नियों के विभिन्न वार्तालाप अपने प्रिय पतियों के साथ
Ram Krishan Rastogi
“" हिन्दी मे निहित हमारे संस्कार” "
Dr Meenu Poonia
तेरे खेल न्यारे
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हठीले हो बड़े निष्ठुर
लक्ष्मी सिंह
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
Affection couldn't be found in shallow spaces.
Manisha Manjari
भूल जा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
🚩उन बिन, अँखियों से टपका जल।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
शव
Sushil chauhan
"एक यार था मेरा"
Lohit Tamta
✍️मातारानी ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
आईना सच अगर दिखाता है
Dr fauzia Naseem shad
बेचने वाले
shabina. Naaz
मुक्तक व दोहा
अरविन्द व्यास
✍️बेगैरत गुलामी✍️
'अशांत' शेखर
"पिता का जीवन"
पंकज कुमार कर्ण
फूल कोई।
Taj Mohammad
*नीड़ ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
Tears in eyes
Buddha Prakash
महाराणा प्रताप
jaswant Lakhara
कवनो गाड़ी तरे ई चले जिंदगी
आकाश महेशपुरी
Loading...