Oct 6, 2016 · 1 min read

आप विश्व सिरमौर…: छंद कुण्डलिया

जय हिंद की सेना …
सेना दिवस १९ जुलाई…
(छंद कुंडलिया)

आतंकी अब कांपते, नहीं मिल रहा ठौर
भारतीय सेना नमन, आप विश्व सिरमौर.
आप विश्व सिरमौर, वीर सैनिक बलिदानी.
सदा दिलाते याद, ‘पाक’ पापी को नानी.
यद्यपि बहु प्रतिबन्ध लगाते नेता सनकी.
तब भी काम तमाम, झेल जाते आतंकी..

–इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर‘

94 Views
You may also like:
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr. Alpa H.
पिता
Deepali Kalra
तप रहे हैं दिन घनेरे / (तपन का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मुस्कुराहटों के मूल्य
Saraswati Bajpai
समुंदर बेच देता है
आकाश महेशपुरी
हम भी है आसमां।
Taj Mohammad
हिंसा की आग 🔥
मनोज कर्ण
देखो! पप्पू पास हो गया
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मातृ रूप
श्री रमण
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
हे ! धरती गगन केऽ स्वामी...
मनोज कर्ण
$गीत
आर.एस. 'प्रीतम'
अजीब कशमकश
Anjana Jain
पिता
Dr. Kishan Karigar
मिटटी
Vikas Sharma'Shivaaya'
*तिरछी नजर *
Dr. Alpa H.
संडे की व्यथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
Motivation ! Motivation ! Motivation !
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बहंगी लचकत जाय
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
दर्द भरे गीत
Dr.sima
पिता के जैसा......नहीं देखा मैंने दुजा
Dr. Alpa H.
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
खुद को तुम पहचानों नारी ( भाग १)
Anamika Singh
जागीर
सूर्यकांत द्विवेदी
परिंदों सा।
Taj Mohammad
அழியக்கூடிய மற்றும் அழியாத
Shyam Sundar Subramanian
पितृ ऋण
Shyam Sundar Subramanian
हवाओं को क्या पता
Anuj yadav
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
फूल
Alok Saxena
Loading...