Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*•* रचा है जो परमेश्वर तुझको *•*

रचा है जो परमेश्वर तुझको, तू धरती पर भार नहीं
शक्तिपुंज का अंकुर है तू, जग में तू बेकार नहीं
(1) पारब्रह्म परमेश्वर कहता, जीवन तेरा है अनमोल
तू है अलौकिक शक्ति जग की, समझो ना खुद को बेमोल
तू बन जा दुनियाँ को आइड़ल, तेरी हो जयकार वहीं
रचा है जो परमेश्वर …………
(2) आशाओं के दीप जला तू, अपने पथ पर बढ़ता जा
उच्च शिखर लंबी मंजिल तू, कदम बढ़ाते चढ़ता जा
आँधी, तूफां, ये जग रोके, आधार है तू न हार कहीं
रचा है जो परमेश्वर………..
(3) तेरे संकट पत्थर चट्टानें से, तोड़ के आगे बढ़ता जा
वीरों को नहीं असंभव कुछ, तू बाधाओं से लड़ता जा
पर्वत भी शीश झुकाएंगे, तुझे थमने की दरकार नहीं
रचा है तो परमेश्वर…………
लेखक :- खैमसिंह सैनी
M.A, M.Ed, B.Ed
(राजस्थान)
मो.न. 9266034599

5 Likes · 4 Comments · 671 Views
You may also like:
फिजूल।
Taj Mohammad
काबुल का दंश
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
उम्मीद का चराग।
Taj Mohammad
चिड़ियाँ
Anamika Singh
✍️थोड़ी मजाकियां✍️
"अशांत" शेखर
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
अगर ज़रा भी हो इश्क मुझसे, मुझे नज़र से दिखा...
सत्य कुमार प्रेमी
✍️मैं आज़ाद हूँ (??)✍️
"अशांत" शेखर
# मां ...
Chinta netam " मन "
ఎందుకు ఈ లోకం పరుగెడుతుంది.
Vijaykumar Gundal
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
पिता
Dr.Priya Soni Khare
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
वसंत का संदेश
Anamika Singh
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दिले यार ना मिलते हैं।
Taj Mohammad
*सुकृति: हैप्पी वर्थ डे* 【बाल कविता 】
Ravi Prakash
तुम चाहो तो सारा जहाँ मांग लो.....
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
दया करो भगवान
Buddha Prakash
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
कल कह सकता है वह ऐसा
gurudeenverma198
संकोच - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
पिता
Rajiv Vishal
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
आदमी आदमी से डरने लगा है
VINOD KUMAR CHAUHAN
जीवन इनका भी है
Anamika Singh
कन्यादान लिखना भी कहानी हो गई
VINOD KUMAR CHAUHAN
सारी फिज़ाएं छुप सी गई हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
Loading...