Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

आधुनिक भारत के वास्तविक निर्माता

साल 1875 का 31 अक्टूबर को वल्लभ भाई पटेल का जन्म हुआ, गाँधीजी के चंपारण कृषक सत्याग्रह के प्रसंगश: बारदोली में कृषक सत्याग्रह का नेतृत्व पटेल ने किया था । चूंकि इस आंदोलन में महिला कृषकों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा ली थी और पटेल के करिश्माई नेतृत्व ने इन महिलाओं को काफी प्रभावित की । महिला कृषकों ने उन्हें तब से ‘सरदार’ कहना शुरू कर दी।

कालान्तर में यह शब्द नामोपसर्ग में लगकर सरदार वल्लभ भाई पटेल के रूप में संसारख्यात् हो गए । इतना ही नहीं, वकालत में बहस के समय पत्नी के निधन का तार मिलने पर भी वे बहस करते रहे और उक्त केस जीते । भारत को आज़ादी मिळते ही देश ने इसे अपना पहला गृह मंत्री बनाया और अपने व्यक्तित्व संग कृतित्व के बूते सप्ताह से कम दिनों के अंदर ही देश ने उन्हें उप-प्रधानमंत्री भी बना दिया।

तब भारत में सैकड़ों की संख्या में छोटे-छोटे देशी राजे-रजवाड़े का बिखराव, बड़े रियासतों में हैदराबाद के निज़ाम, ज़ूनागढ़ रियासत, कश्मीर के महाराजा इत्यादि के भारत के प्रति पूर्ण समर्पण का अभाव से सरदार पटेल को लगा …. अंग्रेजों ने ‘फूट’ डालने का जो मन्त्र-जाप किया था, वो अब भी जारी है । सरदार की सरदाई ने कड़ाई से पालन किया और कश्मीर को छोड़कर तब के ज्ञात हिस्से भारत के एकता के सूत्र में बँधे, फिर इस सरदार का उपनाम ‘लौह-पुरुष’ हो गया।

कालान्तर में कश्मीर, गोवा, सिक्किम इत्यादि रियासत अथवा प्रांत भी भारत के क्षेत्रफल के हिस्से बने , जो कि सरदार पटेल के ही दूरदर्शिता के प्रमाण हैं और भारत सरकार इसलिए अपने विरोधियों के लिए भी प्रातःस्मरणीय रहे ऐसे भारतीय लौहे के जन्मदिवस के सुअवसर पर ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ के रूप में मनाते हैं । तिथि 31.10.2018 को सरदार पटेल के विश्व की ऊंची प्रतिमा का गुजरात के नर्मदा ज़िले में लोकार्पित भी हो रहा है। आधुनिक भारत के निर्माता, जो आईएएस, आईपीएस और आधुनिक भारतीय पुलिस के जनक भी रहे। सरदार पटेल आधुनिक भारत के वास्तविक निर्माता थे।

2 Likes · 1 Comment · 135 Views
You may also like:
पुनर्विवाह
Anamika Singh
योग तराना एक गीत (विश्व योग दिवस)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पहचान
Anamika Singh
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
मैं तेरा बन जाऊं जिन्दगी।
Taj Mohammad
किसी का होके रह जाना
Dr fauzia Naseem shad
बस चार कंधे
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
✍️कथासत्य✍️
'अशांत' शेखर
व्यावहारिक सत्य
Shyam Sundar Subramanian
कहता है ये दिल मेरा,
Vaishnavi Gupta
शहीद-ए-आजम भगतसिंह
Dalveer Singh
मै तैयार हूँ
Anamika Singh
मैंने उस पल को
Dr fauzia Naseem shad
ऐ ज़िन्दगी तुझे
Dr fauzia Naseem shad
कभी हक़ किसी पर
Dr fauzia Naseem shad
तीरगी से निबाह करते रहे
Anis Shah
कारगिल फतह का २३वां वर्ष
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️हे शहीद भगतसिंग...!✍️
'अशांत' शेखर
*श्री प्रदीप कुमार बंसल उर्फ मुन्ना बंसल की याद*
Ravi Prakash
" शरारती बूंद "
Dr Meenu Poonia
पिता
Raju Gajbhiye
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
आशाओं के दीप.....
Chandra Prakash Patel
महाराष्ट्र की स्थिती
बिमल
दर्द ख़ामोशियां
Dr fauzia Naseem shad
गम तारी है।
Taj Mohammad
एक मुठी सरसो पीट पीट बरसो
आकाश महेशपुरी
नैय्या की पतवार
DESH RAJ
तेरा साथ मुझको गवारा नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...