Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jan 2022 · 1 min read

आत्महत्या

बेश कीमती जिंदगी की अमूल्य साँसें ,
यूँ मत उखाड़ ।
कहते हैं पापों में पाप
आत्महत्या यानि महापाप
मत बन इसका भागीदार
सत् (आत्मा ) और साहस ( शरीर )
मत खो, जीवन मुकाम ।
अपने लिए नहीं तो अपनों के लिए जीना है।
जीने की ललक ,हरहाल में रख ।
गुजर जाएगा ये संघर्ष पल।
यहाँ कौन जिंदगी अखण्ड सौगात है ।
मरना है एक – दिन सबको हरहाल ।
यहाँ तो जीने में जहर (द्वंद ) है, साँसों का पहर (अमृत ) हैं।
फिर ये आत्महत्या क्यों
यूँ ही जिंदगी मिटा देना।
भूला देंगे तुझे सब ,
पर जिसके थे तुम ।
तेरी आत्महत्या उसे हर पल खलेगा।
शूल सा चूमेगा ।
देख अपनों को मुश्किलें बता
यूँ ही जिंदगी मत उजाड़ ।
देख तू पूर्वजों को,
नहीं तो देख उन अवतारों (राम, कृष्‍ण ) को
क्या उनका जीवन सरल था।
अपने कर्मों , संघर्ष में अडिग रहे ।
तभी तो पाये सार ।
बेशक बेशकीमती हैं जिंदगी ,
यूँ मत अपने को मार ।
आत्महत्या नासूर हैं ।
जीने वालों को देता है , आघात
_ डॉ . सीमा कुमारी, बिहार (भागलपुर ) दिनांक- 15-8-020, स्वरचित कविता , जिसे आज प्रकाशित कर रही हूँ ।

Language: Hindi
Tag: कविता
281 Views
You may also like:
कुनमुनी नींदे!!
कुनमुनी नींदे!!
Dr. Nisha Mathur
#नाव
#नाव
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
👸कोई हंस रहा, तो कोई रो रहा है💏
👸कोई हंस रहा, तो कोई रो रहा है💏
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
प्रतिबिंब
प्रतिबिंब
Dr Rajiv
चार पैसे भी नही..
चार पैसे भी नही..
Vijay kumar Pandey
हो गया तुझसे, मुझे प्यार खुदा जाने क्यों।
हो गया तुझसे, मुझे प्यार खुदा जाने क्यों।
सत्य कुमार प्रेमी
मान जा ओ मां मेरी
मान जा ओ मां मेरी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
राष्ट्रप्रेम
राष्ट्रप्रेम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
💐प्रेम कौतुक-226💐
💐प्रेम कौतुक-226💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गीत
गीत
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
इन बादलों की राहों में अब न आना कोई
इन बादलों की राहों में अब न आना कोई
VINOD KUMAR CHAUHAN
काश ये नींद भी तेरी याद के जैसी होती ।
काश ये नींद भी तेरी याद के जैसी होती ।
Amit Kumar
बनावटी दुनिया मोबाईल की
बनावटी दुनिया मोबाईल की"
Dr Meenu Poonia
*पैसे हों तो आओ (बाल कविता)*
*पैसे हों तो आओ (बाल कविता)*
Ravi Prakash
त्याग
त्याग
Saraswati Bajpai
कल आज कल
कल आज कल
Satish Srijan
विवाद और मतभेद
विवाद और मतभेद
Shyam Sundar Subramanian
मुझको मेरा अगर पता मिलता
मुझको मेरा अगर पता मिलता
Dr fauzia Naseem shad
सार छंद / छन्न पकैया गीत
सार छंद / छन्न पकैया गीत
Subhash Singhai
2023
2023
AJAY AMITABH SUMAN
दफन
दफन
Dalveer Singh
देश की लानत
देश की लानत
Shekhar Chandra Mitra
Book of the day: मालव (उपन्यास)
Book of the day: मालव (उपन्यास)
Sahityapedia
कभी कभी पागल होना भी
कभी कभी पागल होना भी
Vandana maurya
मैं टूटता हुआ सितारा हूँ, जो तेरी ख़्वाहिशें पूरी कर जाए।
मैं टूटता हुआ सितारा हूँ, जो तेरी ख़्वाहिशें पूरी कर...
Manisha Manjari
गाओ शुभ मंगल गीत
गाओ शुभ मंगल गीत
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*** चल अकेला.......!!! ***
*** चल अकेला.......!!! ***
VEDANTA PATEL
When life  serves you with surprises your planning sits at b
When life serves you with surprises your planning sits at...
Nupur Pathak
नशा - 1
नशा - 1
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
■ अनुभूति और अभिव्यक्ति-
■ अनुभूति और अभिव्यक्ति-
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...