Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 10, 2022 · 2 min read

“ आत्ममंथन; मिथिला,मैथिली आ मैथिल “

डॉ लक्ष्मण झा “ परिमल “
======================
हम मैथिली कविता लिखइत छी ,साहित्य लिखइत छी ! परिचर्चा ,समालोचना ,लेख आ टीका – टिप्पणी सहो करैत छी ! हमर मैथिली काव्य संग्रह ,खंड काव्य ,उपन्यास ,लघु कथा मैथिली साहित्यक अमूल्य निधि बनि गेल अछि ! राज्यकीय ,देशीय आ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हमरा अनेकों अनेक पुरस्कार भेटल ! सब ठाम हमर सत्कार होइत अछि ! हम श्रेष्ठ भेलहुं हमरे सब मैथिल संगठन मुख्य अतिथि बनबैत छथि ! ओना मैथिली क विकास हेतु अनगिनत संगठन ,समिति आ ग्रुप बनि गेल अछि ! ओना हमरा की ? सबठाम सं नौत -हाकर आयल ! समय पर संगठन ,समिति आ ग्रुप वला चारि चक्का पठा दैत छथि ! हमहूँ मिथिला परिधान सं सुसज्जित भय चलि जाइत छी ! सब हमरा साष्टांग दंडवत करैत छथि ! कियो हमर धोती ,कियो हमर कुर्ता आ कियो हमर पाग क प्रशंसा करैत छथि ! मिथिला ,मैथिल आ मैथिली क विकासक रूपरेखा पर जोर दैत छी ! फोटो ,वीडियो ग्राफी आ समाचार पत्र खूब चर्चा होइत अछि ! राजधानी मे रहित छी ! जतय जाऊ हमरे चर्चा ! गाम आ मिथिला परिवेश सं दूर रहि हमर पुत्र ,पुत्रवधू ,पौत्र आ पौत्री मैथिली नहि बजइत छथि ! हुनका संगे हमहूँ हिन्दी बजइत छी ! मुदा कियो पूछताह कि बच्चा सब मैथिली बजइत छथि ? हाँ .. हाँ कियाक नहि ? एहन गप्प नहि जे अंतरात्मा क ध्वनि हम नहि सुनि सकैत ! जाहि भाषा क साधना सं नई दिल्ली मे अप्पन बँगलो लेलहुं ,अप्पन पुत्र केँ पदाधिकारी बनेलहुं ,पौत्र ,पौत्री आ पुत्र वधू आधुनिक बनि गेलीह परंतु मैथिली सं सब दूर होइत गेलाह ! इ मात्र शहर मे नहि गामों धरि कोरोना पसरि गेल अछि ! भाषा ,लिपि ,संस्कृति सं जे विमुख भ जायब त हम सब दिग्भ्रमित भ जायब !
=====================
डॉ लक्ष्मण झा “ परिमल “
साउन्ड हेल्थ क्लिनिक
एस 0 पी 0 कॉलेज रोड
दुमका
झारखंड

33 Views
You may also like:
जो चाहे कर सकता है
Alok kumar Mishra
बहुमत
मनोज कर्ण
शुभ मुहूर्त
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दिल लगाऊं कहां
Kavita Chouhan
ऐ!मेरी बेटी
लक्ष्मी सिंह
अधूरापन
Harshvardhan "आवारा"
मन की बात
Rashmi Sanjay
या इलाही।
Taj Mohammad
मैं सोता रहा......
Avinash Tripathi
आप कौन है
Sandeep Albela
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
My eyes look for you.
Taj Mohammad
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
हिरण
Buddha Prakash
कुरान की आयत।
Taj Mohammad
किताब।
Amber Srivastava
आन के जियान कके
अवध किशोर 'अवधू'
✍️ मसला क्यूँ है ?✍️
"अशांत" शेखर
महबूब ए इश्क।
Taj Mohammad
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मेंढक और ऊँट
सूर्यकांत द्विवेदी
*एक अच्छी स्वातंत्र्य अमृत स्मारिका*
Ravi Prakash
*ए.पी. जे. अब्दुल कलाम (गीतिका)*
Ravi Prakash
तुम न आये मगर..
लक्ष्मी सिंह
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
वर्तमान
Vikas Sharma'Shivaaya'
जबसे मुहब्बतों के तरफ़दार......
अश्क चिरैयाकोटी
" दृष्टिकोण "
DrLakshman Jha Parimal
नया चिकित्सक
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
*फल- राजा कहलाता आम (गीतिका)*
Ravi Prakash
Loading...