Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 24, 2019 · 1 min read

आज फिर धुंधले हुऐ आईने समाज के.

आज फिर धुंधले हुऐ,
आईने समाज के….

प्रेम प्यार सहयोग सहजता
हैं गहने मानवीय मूल्यों में …
झलकते थे दिखते थे अंधकार में.
एकजुटता, धर्म-निरपेक्षता, संप्रभुता.
आज फिर अखंडता का द्योतक भारत.
अनेकता में एकता वाला भारत..
सिक्के पूरे को छोड़ रहा .

आज फिर धुंधले हुये.
आईने समाज के.

कमियाँ छुपी रही
नैतिकता ढकती रही.
बारुद बना गुब्बार
धर्म की गलत शिक्षा.
दोगले चित्रण करने लगी.
मुँह में राम बगल में छुरी .
कहावत सिद्ध होने लगी.

धर्म चालाक शातिर चोर कट्टर बनाता नहीं.
कमी बीज़ में है धरा खुद पर लेती नहीं.
निम्ब,करेला और कड़वी वाणी औषधि है.
भोज्य पदार्थ इनका स्थान ले सकते नहीं.

तन मैला मन गंगा सार्थकता
तन गंगा मन मैला गौण भला .
डॉ महेन्द्र सिंह हंस
तन भी गंगा, मन भी गंगा.
जिनके कर्म नैसर्गिक सारगर्भित है.
.
आज फिर धुंधले हुऐ.
आईने समाज के.
क्योंकि कुछ अंधभक्त सम्मोहित व्यक्ति
हमारे समाज के हिस्से हैं.।
जो समाज में भंगुर है.
न तपते हैं ..न ढलते है.
अशुद्धि का रुप हैं !!

4 Likes · 3 Comments · 193 Views
You may also like:
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
पापा की परी...
Sapna K S
Dear Mango...!!
Kanchan Khanna
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
कविता संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
चार
Vikas Sharma'Shivaaya'
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
अन्तर्मन ....
Chandra Prakash Patel
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
बाबा भैरण के जनैत छी ?
श्रीहर्ष आचार्य
मेरी छवि
Anamika Singh
*आओ बात करें चंदा की (मुक्तक)*
Ravi Prakash
"बेटी के लिए उसके पिता "
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
भूख की अज़ीयत
Dr fauzia Naseem shad
सपनों का महल
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
खुशियां तो होंगी वहां पर।
Taj Mohammad
अल्फाज़ ए ताज भाग-4
Taj Mohammad
" सूरजमल "
Dr Meenu Poonia
मैं तेरी आशिकी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सब कुछ ही छोड़ा है तुझ पर।
Taj Mohammad
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
गांव शहर और हम ( कर्मण्य)
Shyam Pandey
हम उन्हें कितना भी मनाले
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम
Krishan Singh
कविता को बख्श दो कारोबार मत बनाओ।
सत्य कुमार प्रेमी
अपना भारत देश महान है।
Taj Mohammad
सुकूं का प्यासा है।
Taj Mohammad
कल कह सकता है वह ऐसा
gurudeenverma198
✍️क्या ये विकास है ?✍️
'अशांत' शेखर
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
Loading...